Move to Jagran APP

Bihar News: नाबालिग को बुर्का पहनाकर कोलकाता ले जाने की थी तैयारी, रेलवे स्टेशन पर जवानों की पड़ गई, फिर...

Bihar News रेल जीआरपी पुलिस ने जमुई स्टेशन से एक बुर्का पहनी नाबालिग लड़की और दो युवक को जमुई स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से संदिग्ध हरकतें करते हुए पूछताछ के लिए रेल थाना लाई। जानकारी के अनुसार नाबालिग को संदिग्ध हालत में देख ड्यूटी पर तैनात जीआरपी जवानों ने लड़की से पूछताछ करने लगे। इसी दौरान दोनों युवक भागने लगे।

By Mohit Tripathi Edited By: Mohit Tripathi Published: Sat, 16 Mar 2024 11:05 PM (IST)Updated: Sat, 16 Mar 2024 11:05 PM (IST)
अगले महीने 22 को तय हुई थी प्रेमिका की शादी। (सांकेतिक फोटो)

संवाद सूत्र, बरहट(जमुई)। रेल जीआरपी पुलिस ने जमुई स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से एक बुर्का पहने नाबालिग लड़की और दो युवक को संदिग्ध हरकतें करते हुए पूछताछ के लिए रेल थाना लाई।

बताया जाता है कि शुक्रवार की देर शाम ड्यूटी पर तैनात महिला सिपाही कुमारी सुमन वर्मा व जवान नागेंद्र यादव तैनात थे। इसी दौरान दो युवक एक बुर्के वाली लड़की के साथ पुलिस को देख छुपने का प्रयास करने लगे। संदेह होने पर महिला सिपाही कुमारी सुमन वर्मा ने लड़की को पकड़ पूछताछ करने लगी। इसी दौरान दोनों युवक भागने लगे।

जवान नागेंद्र यादव, विकास चौरसिया और अंकिता कुमारी के सहयोग से पकड़ कर थाना लाया गया। पूछताछ करने पर पहले दोनों युवक अपने साथ किसी लड़की की होने की बात से इंकार करने लगे।

कड़ाई पूछताछ में उगले राज

तत्पश्चात, रेल थानाध्यक्ष मनोज कुमार देव को सूचना मिलने के बाद पहुंचते ही जब दोनों युवक से कड़ाई से पूछताछ की तो उन लोगों ने बताया कि वे नाबालिग लड़की को अपने साथ उसकी मर्जी से शादी के लिए कोलकाता ले जा रहे हैं। गिरफ्तार युवक चंद्रदीप थाने के मो. ताज अंसारी और मो. सैफ आलम के रूप में हुई।

...इसलिए नाबालिग को लेकर भाग रहा था युवक

पूछताछ के दौरान पता चला कि नाबालिग व मो. ताज के बीच चार साल से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। इसी दौरान नाबालिग लड़की के घर वालों ने उसकी शादी अन्य किसी लड़के से लखीसराय में तय की थी। इसकी भनक लगते ही प्रेमी ने प्रेमिका से शादी करने उसे बुर्का पहनाकर उस समय लेकर भाग गया, जिस समय नाबालिग अपने पिता के साथ हाईस्कूल सोनखार से में इंटर की जांच परीक्षा देने आई थी।

सहेली ने दिया था बुर्का 

बताया जाता है कि नाबालिग को स्कूल में ही किसी सहेली बुर्का ने दी। उसे नाबालिग ने पहनकर अपने पिता के सामने से निकल गई। काफी खोजबीन के बाद नाबालिग के पिता ने स्थानीय थाने में मो. ताज अंसारी ,उसके पिता मो. आशिक अंसारी और उसकी मां खातून के खिलाफ केस दर्ज कराया था।

बताया जाता है कि इस पूरे प्रकरण में प्रेमी युगल को प्रेमी के दोस्त मो. सैफ ने मदद की। चंद्रदीप थाना में केस दर्ज होने की बात सुन थानाध्यक्ष ने इसकी सूचना चंद्रदीप पुलिस को दी।

देर रात चंद्रदीप थाना के एसआइ संजय कुमार सिंह दल-बल के साथ रेल थाना पहुंचकर कागजी प्रक्रिया पूरी कर तीनों को अपने साथ चंद्रदीप ले गए।

एसआइ संजय कुमार सिंह ने बताया कि नाबालिग के पिता द्वारा चंद्रदीप थाने में अपहरण का केस दर्ज कराया है। लव-जिहाद का कोई मामला नहीं है। मामला अपहरण का है।

यह भी पढ़ें: BPSC TRE 3 Paper Leak: बिहार शिक्षक भर्ती का पेपर कब और कैसे लीक हुआ? EOU की रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले खुलासे

BPSC TRE 3.0: पेपर लीक के पीछे कौन-सी ताकत? Tejashwi Yadav के इन तीखों सवालों क्या जवाब देंगे नीतीश कुमार


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.