संवाद सूत्र, बड़हिया (लखीसराय) : बड़हिया में रेल चक्का महाजाम के कारण पटना-हावड़ा मेन लाइन पर 24 घंटे से ट्रेनों का परिचालन ठप है। कई दौर की वार्ता विफल हो जाने के कारण आंदोलन आगे भी चलने की उम्मीद है। इस बीच यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने इस रेलखंड की 55 ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया है, जबकि 36 ट्रेनों का परिचालन रद कर दिया है। बड़हिया में महाजाम के कारण मेन लाइन पर किऊल और मोकामा के बीच के यात्रियों को सबसे अधिक परेशानी हो रही है।

रेलवे ने इस मार्ग की हावड़ा, टाटा एवं दक्षिण से आने वाली ट्रेनों को किऊल से गया, नवादा, तिलैया के रास्ते और भागलपुर की तरफ से आने वाली ट्रेनों को मुंगेर के रास्ते परिचालन किया है। इधर बड़हिया रेलवे स्टेशन पर कोरोना से पूर्व रुकने वाली आठ जोड़ी ट्रेनों के ठहराव की मांग को लेकर रविवार से शुरू चक्का जाम आंदोलन और उग्र होने की उम्मीद है। बड़हिया स्टेशन पर अप पाटलिपुत्र एक्सप्रेस अब भी खड़ी है जबकि डाउन लाइन की पटरी पर लाल झंडा गाड़कर आंदोलन कर रहे लोगों का कब्जा है।

यह भी पढ़ें: बिहार में बड़ा सड़क हादसा: पूर्णिया में ट्रक पलटने से आठ मजदूरों की मौत, सभी राजस्थान के

आधी रात को बड़हिया स्टेशन से हटे जिला और रेलवे के अधिकारी

लखीसराय के जिलाधिकारी संजय कुमार, एसपी पंकज कुमार, दानापुर रेल मंडल के एडीआरएम विभूति भूषण गुप्ता सहित अन्य अधिकारी रविवार की रात बड़हिया स्टेशन से हट गए। इससे पहले कई दौर की वार्ता एडीआरएम और आंदोलनकारियों से हुई लेकिन बेनतीजा रही। बड़हिया के लोग मांग के अनुरूप सभी ट्रेनों के ठहराव संबंधी आदेश पत्र की मांग कर रहे थे जबकि एडीआरएम आश्वासन दे रहे थे। लेकिन आंदोलन कर रहे लोगों ने नहीं माना। अंत में एडीआरएम ने तत्काल हटिया-पटना-हटिया पाटलिपुत्र का ठहराव अगले दिन से देने का मौखिक आश्वासन दिया। बावजूद बड़हिया के लोग नहीं माने। अंत मे सभी अधिकारी वहां से आधी रात को चल दिये। जीआरपी, आरपीएफ, जिला पुलिस बल अब भी वहां मौजूद है।

  • -बड़हिया में रेल चक्का महाजाम 24 घंटे से जारी, 55 ट्रेनों का रूट डायवर्ट, 36 का परिचालन रद
  • -लखीसराय के डीएम, एसपी व दानापुर के एडीआरएम वार्ता विफल होने पर रात 12 बजे स्टेशन से हटे
  • -रेल संघर्ष समिति के बैनर तले बड़हिया के लोगों का ट्रैक पर धरना जारी

पहले भी छले गए हैं आंदोलनकारी

बड़हिया में ट्रेन ठहराव की मांग पर पहले भी लोग रेलवे अधिकारी से छले गए हैं। 17 जनवरी 2021 से रेल संघर्ष समिति के बैनर तले सात दिन तक आमरण अनशन किया गया था। उसके बाद 25 जुलाई को बड़हिया स्टेशन पर आठ घंटा तक ट्रेन बाधित कर आंदोलन किया गया था। उसके बाद रेल विभाग ने बड़हिया स्टेशन पर पांच ट्रेनों का ठहराव दिया था। शेष ट्रेनों का ठहराव स्पेशल ट्रेन के नाम पर जीरो हटने के बाद कर देने का आश्वासन दिया था। बावजूद ऐसा नहीं किया गया।

इन ट्रेनों के ठहराव की हो रही मांग

बड़हिया में पूर्व से रूकने वाली निम्नवत ट्रेन 18181 व 18182 टाटा छपरा कटिहार लिंक स्पेशल, 3105 व 3106 सियालदह बलिया स्पेशल, 5847 व 5648 गुवाहाटी लोकमान्य तिलक साप्ताहिक एवं स्पेशल 2335 व 2336 भागलपुर लोकमान्य तिलक एवं स्पेशल 3419 व 3420 भागालपुर मुजफ्फरपुर जनसेवा एक्सप्रेस, 3413 व 3414 मालदा नई दिल्ली फरक्का एक्सप्रेस, 3483 व 3484 मालदा नई दिल्ली फरक्का एवं स्पेशल 81121 व 8622 पाटलीपुत्रा एक्सप्रेस का ठहराव देने की मांग की जा रही है।

Edited By: Shivam Bajpai