औरंगाबाद : व्यवहार न्यायालय के जिला विधिक सेवा सदन में मंगलवार को दूसरे दिन जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तहत पारा विधिक स्वयं सेवकों को प्रशिक्षण दिया गया। आजादी के अमृत महोत्सव के सफल आयोजन की जानकारी दी गई। अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सह जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव प्रणव शंकर ने प्रशिक्षण देते हुए कहा कि जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी शहर से लेकर सुदूर गांव तक पहुंचाने का प्रयास करें। कहा कि आजादी के 75 वर्ष होने के उपलक्ष्य में भारत सरकार आजादी का अमृत महोत्सव मना रही है। इस महोत्सव में जिला विधिक सेवा प्राधिकार द्वारा दो अक्टूबर से 14 नवंबर तक जिले में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए जिला सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी के साथ बैठक कर विस्तृत कार्य योजना तैयार की गई है। कहा कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य अनुसूचित जाति, जन जाति, गरीब, पिछड़ा वर्ग में विधिक जानकारी देते हुए जागरूकता पैदा करना है। उन्हें जागरूक करना है। उन्हें किस प्रकार प्राधिकार द्वारा लाभान्वित किया जा सकता है इसपर चर्चा करते हुए सचिव ने सभी पारा विधिक स्वयं सेवकों से भी अपने-अपने क्षेत्र में इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों के बीच विधिक जागरूकता लाने का निर्देश दिया। कहा कि तभी आयोजित होने वाली अमृत महोत्सव सफल होगा।

सर्वेश्वरी समूह आश्रम का मना 61 वां स्थापना दिवस

संवाद सूत्र, बारुण (औरंगाबाद) : प्रखंड क्षेत्र स्थित सर्वेश्वरी समूह आश्रम का मंगलवार को 61 वां स्थापना दिवस मनाया गया। समारोह में सुबह सदस्यों ने शाखा परिसर में श्रमदान कर प्रभातफेरी निकाली। समूह के सदस्यों ने कोविड -19 के नियमों का पालन करते हुए वाहनों से प्रभातफेरी निकालकर मानव सेवा का संदेश दिया। प्रभात फेरी बारुण आश्रम से निकलकर बा•ार, मस्तूल बारुण, क्रमडीह मोड़, केशव मोड़ सहित विभिन्न मार्गों से भ्रमण करते हुए वापस आश्रम पहुंचा। जहां विधि अनुसार पूजा पाठ कर ध्वजारोहण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम में विचार गोष्ठी आयोजित की गई। साथ ही समूह के उद्देश्य एवं कार्यों पर विस्तार से चर्चा की। भगवान अघोरेश्वर भगवान राम ने जिस उद्देश्य के साथ सर्वेश्वरी समूह की स्थापना की है, उस उद्देश्य को पूरा करने में हमें आवश्यक कदम उठाने की जरूरत है। उक्त बातें आश्रम प्रतिनिधि ने कहते हुए बताया कि मानव सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है। इस बात को ध्यान में रखकर हम सभी को सेवा व समर्पण भाव के साथ काम करने की जरूरत है। विचार गोष्ठी के बाद प्रसाद वितरण एवं भंडारा का आयोजन किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में नागेंद्र सिंह उर्फ नागा बाबा, रंजीत चौधरी उर्फ नंदी, द्वारिकानाथ, ललन चौधरी, बृजनंदन चौधरी, संतोष विश्वकर्मा, सोनू गुप्ता, टिकू, बिट्टू, रंजन, अमित, सहित सर्वेश्वरी समूह के अन्य सदस्य ने महती भूमिका निभाई।

Edited By: Jagran