नई दिल्ली, ऑटो डेस्क। वैसे तो दुनिया भर में एक से बढ़कर एक बेहतरीन गाड़ियां लॉन्च हुईं है, जिसमें कुछ न कुछ खासियत है। लेकिन आज हम नई और एडवांस कारों की बात नहीं करेंगे। आज हम बात करने जा रहे हैं उन गाड़ियों के बारे में जो काफी दुर्लभ हैं। ये गाड़ियां देखने में इतनी लंबी चौड़ी थीं कि लोग ने इन्हें खरीदने के लिए करोड़ों खर्च किए हैं। नीचे उन 5 दुर्लभ गाड़ियों के बारे में विस्तार से बताया जा रहा है।

Mercedes-Benz 300 SLR Uhlenhaut Coupé

मर्सिडीज बेंज की ये गाड़ी न केवल दुर्लभ है, बल्कि अपने जमाने में दुनिया की सबसे महंगी गाड़ी थी। दिलचस्प बात ये है कि इस गाड़ी को सामने से बहुत कम लोगों ने देखा है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कंपनी ने इसके केवल 2 मॉडल को बनाया था, जिसमें एक मॉडल का इंटीरियर नीले रंग का था तो वहीं दूसरे मॉडल के इंटीरियर का रंग लाल था। जबकि मर्सिडीज दो मॉडलों में से एक का मालिक है और उसको अपने म्यूजियम में रखा है, वहीं दूसरे मॉडल को हाल ही में एक नीलामी में $ 143 मिलियन में बेचा गया था। इसका मतलब ये है कि यह मॉडल दुनियां की सबसे महंगी गाड़ियों में एक है। 300 SLR Uhlenhaut Coupé एक टू-सीटर स्पोर्ट्सकार है, जिसमें आकर्षक दरवाजे और एक लंबा बोनट है जिसके नीचे एक लंबा-चौड़ा 3.0-लीटर इंजन लगा है।

Bugatti Type 41 (Royale)

Bugatti Type 41 कार की पहचान 'रॉयल' की रूप में है। इस लग्जरी कार के केवल 7 यूनिट्स गाड़ियों को बनाया गया था। क्योंकि, यह कार काफी बड़ी के साथ-साथ काफी महंगी भी थी। इस लग्जरी कार की लंबाई करीब 6,400mm थी, जो इसे मौजूदा जनरेशन वाली Mercedes-Benz S-Class से करीब 21 फीसदी लंबी बनाती है। इस गाड़ी का व्हीलबेस 4,300 एमएम था जो कि Hyundai Creta कार की पूरी लंबाई के बराबर है। जैसा कि पहले उल्लेख किया गया है, कुल मिलाकर केवल सात कारों का निर्माण किया गया था, लेकिन उनमें से केवल छह आज तक बची हैं।

Lamborghini Veneno

लेम्बोर्गिनी ने अपनी 50वीं वर्षगांठ मनाने के लिए एक अलग और साहसिक डिजाइन अपनाया और दुनिया को वेनेनो दी। यह एवेंटाडोर और इतालवी मार्की पर आधारित कार थी, जिसके 4 कूप और 9 रोडस्टर्स मॉडल्स को बनाया गया है। इस मॉडल में 6.5-लीटर का नैचुरल- एस्पिरेटेड V12 इंजन लगाया गया है। जिसकी टॉप स्पीड 56 किमी प्रति घंटे की है। यह दुर्लभ कार दुनिया की सबसे महंगी कारों की लिस्ट में से एक है। इसे पहली बार 2013 जिनेवा मोटर शो में दुनिया के सामने पेश किया गया था।

Ferrari 250 GTO

दुर्लभ गाड़ियों की लिस्ट में फरारी की 250 GTO मॉडल भी आती है, जिसका प्रोडक्शन के बाद 2 साल के अंदर बंद कर दिया गया। साल 1962 से लेकर 1964 तक इस गाड़ी के कुल 36 यूनिट्स को बनाया गया था। उस दौरान दुनिया भर में इस गाड़ी के चर्चे जोरों पर था। इस मॉडल में 3.0-लीटर का नैचुरल- एस्पिरेटेड V12 इंजन लगाया गया है, जो 296bhp की पॉवर और 294Nm की पीक टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम है। यह नीलामी में सबसे अधिक मांग वाली कारों में से एक है।

McLaren F1 LM

McLaren F1 LM को रेसिंग के लिहाज से साल 1995 में बनाया गया था। हालांकि, इस गाड़ी के केवल 5 यूनिट्स ही बनाए गए थे। यही वजह है कि इस शानदार कार का नाम दुनिया की दुर्लभ गाड़ियों में एक है। इस कार में 6.1 लीटर का नैचुरली-एस्पिरेटेड V12 इंजन का इस्तेमाल किया गया था, जो लगभग 662bhp की मैक्सिम पॉवर और 705Nm की पीक टॉर्क जेनरेट करने में सक्षम थी।

यह भी पढ़ें

पूरा होगा खुद की गाड़ी का सपना! ये हैं 5.5 लाख के अंदर आने वाली बजट कारें

सेकेंड हैंड बाइक खरीदते समय इन जरूरी बातों का रखें ध्यान, मिलेगी बेहतर डील

Edited By: Atul Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट