नई दिल्ली (ऑटो डेस्क)। Steelbird Group, हेलमेट्स, रिटेल, ऑटो एसेसरीज और एंटरटेनमेंट जैसे अलग अलग सेक्टर्स में सफलता हासिल करने के बाद अब टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में प्रवेश करने जा रहा है और यूजर्स को एक पूरी तरह से नया अनुभव देने के लिए तैयार है। अपने यूनिक मोबाइल एप्लिकेशन ‘स्टीलबर्ड कनेक्ट शेयर एंड अर्न’ को लॉन्च करने के साथ स्टीलबर्ड नेटवर्किंग, सोशलाइजिंग को एक-दूसरे के साथ बेहतर ढंग से साथ लाने का प्रयास कर रहा है। ये एप्लिेशन एक क्किल के साथ शेयर कर कमाई का मौका देगा और ये एक नया और बेहतरीन बिजनेस मॉडल साबित होगा।

नई सोशल नेटवर्किंग एप्लिकेशन मौजूदा ऐप्स जैसे कि फेसबुक, ट्विटर से अलग है और इंटरनेट सर्फिंग के साथ साथ आपके लिए घर बैठे ब्राउज करते हुए कमाने के लिए एक क्विक रूट प्रदान करता हैं। इस एप्लिकेशन की सबसे बड़ी खासियत है कि यह हर किसी के लिए लाभदायक है, चाहे वह पोस्ट करने वाला है या फिर उस पोस्ट को शेयर करने वाला है। पोस्ट करने वाले का कंटेंट कुछ ही पल में वायरल हो जाता है जबकि पोस्ट शेयर करने वाला को अच्छी खासी आमदनी ‘स्टीलबर्ड कनेक्ट शेयर एंड अर्न’ से हो जाती है। एंड्रॉयड और आईओएस दोनों पर एप्लिकेशन को उपयोग में लाया जा सकता है और ये ऐप सोशल नेटवर्किंग क्षेत्र में एक चेंजमेकर साबित होगी। लेटेस्ट Steelbird Helmet खरीदने के लिए यहां क्लिक करें।

इस नई सोशल नेटवर्किंग एप्लिकेशन की एक झलक दिखाते हुए श्री राजीव कपूर, प्रबंध निदेशक, स्टीलबर्ड ग्रुप ने कहा कि "विभिन्न क्षेत्रों में मुकाम हासिल करने करने के बाद टेक्नोलॉजी एक ऐसा सेक्टर है, जिस पर स्टीलबर्ड की काफी समय से नजर थी और इस मोबाइल एप के लॉन्च के साथ हमारा सपना साकार हुआ है। सोशल मीडिया प्लेटफार्म के साथ शुरूआत करते हुए स्टीलबर्ड यूजर्स के लिए एक ऐसा ऐप लाया है जो कि यूनिक, उपयोग में आसान और मोबाइल संचालित है। यह प्लेटफार्म मूल रूप से कंटेंट को वायरल बनाने के लिए एक क्विक मोड प्रदान करेगा। इस डेवलपमेंट के पीछे मुख्य उद्देश्य टेक्नोलॉजी और इंटरनेट का उपयोग व्यापार को गति देने और अंतिम उपयोगकर्ताओं को रिवार्ड देने के लिए है जो अभी तक किसी भी सोशल प्लेटफार्म पर नहीं है।"

भारत में सोशल मीडिया की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए और लगातार बढ़ते क्रेज पर विस्तार से बात करते हुए कपूर ने आगे कहा कि "वर्तमान में भारतीय कंपनियां अपने उत्पादों के विपणन के लिए डिजिटल विज्ञापन पर 108 बिलियन रुपए खर्च करती हैं और ये आंकड़ा 32 प्रतिशत वार्षिक की दर से बढऩे की उम्मीद है जो कि भारत में विज्ञापन उद्योग की संपूर्ण विकास दर 11 प्रतिशत के मुकाबले काफी अधिक है। वर्तमान में डिजिटल मीडिया कुल भारतीय विज्ञापन उद्योग का लगभग 15 प्रतिशत हिस्सा रखता है और 2020 तक इसके लगभग 24 प्रतिशत तक पहुंचने की उम्मीद है जो आश्चर्यजनक है।"

यह भी पढ़ें:

सुर्खियों में छाई 2019 Ford Figo से उठा पर्दा, इन दमदार फीचर्स के साथ होगी लॉन्च

नए अवतार में लॉन्च हुईं Honda की ये 4 बाइक्स, कीमत 47110 रुपये से शुरू

Posted By: Ankit Dubey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप