PreviousNext

संस्कार की शिक्षा दें शिक्षण संस्थान, डिग्री तो आतंकी भी ले लेते हैं: राजनाथ

Publish Date:Fri, 21 Apr 2017 02:47 PM (IST) | Updated Date:Fri, 21 Apr 2017 06:11 PM (IST)
संस्कार की शिक्षा दें शिक्षण संस्थान, डिग्री तो आतंकी भी ले लेते हैं: राजनाथसंस्कार की शिक्षा दें शिक्षण संस्थान, डिग्री तो आतंकी भी ले लेते हैं: राजनाथ
देश तथा सभी प्रदेश की शिक्षक संस्थानों को बच्चों को डिग्री के साथ संस्कार भी देने चाहिए। शिक्षा के साथ दीक्षा और संस्कार जरुरी हैं, नहीं तो डिग्री तो आतंकी भी लेते हैं।

लखनऊ (जेएनएन)। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आज से दो दिन के लखनऊ के दौरे पर हैं। आज अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ में उन्होंने जयपुरिया स्कूल की नई शाखा का उद्घाटन किया। 

इस अवसर पर उन्होंने बच्चों के साथ ही स्कूल मैनेंजमेंट को सीख दी। राजनाथ सिंह ने कहा कि मैनेजमेंट तथा शिक्षक बच्चों को शिक्षा के साथ संस्कार की भी दीक्षा दें। जयपुरिया स्कूल, पंडित खेड़ा कानपुर रोड में राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की संस्कृति, विरासत व परम्पराओ की शिक्षा संस्कर के साथ दी जानी चाहिए। स्कूल हमारे बच्चों को अंग्रेज न बनाएं बल्कि अंग्रेजी का ज्ञान दें। 

यह भी पढ़ें: भाजपा कार्यसमिति एक से लखनऊ में, तय होगा मिशन 2019 का एजेंडा

राजनाथ सिंह ने कहा कि मैं जयपुरिया स्कूल के टीचरों से कहूंगा कि बच्चों को अंग्रेजी जरूर पढाएं, लेकिन अंग्रेज न बनाएं। इसके साथ ही कहा कि संस्कृत को स्लैब्स में अनिवार्य करें, क्योंकि संस्कृत से ही भारत की संस्कृति और संस्कार से ही संभव है। अंग्रेजों ने भारत की बहुत क्षति की है, इसलिए मैं चाहता हूं कि देश के सभी अंग्रेजी के स्कूलों में संस्कृत को 30 मिनट के लिए ही सही, लेकिन अनिवार्य करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: पचास से अधिक मुस्लिम कारसेवक ईंट लेकर राम मंदिर निर्माण करने पहुंचे अयोध्या

राजनाथ सिंह ने कहा कि देश तथा सभी प्रदेश की शिक्षण संस्थानों को बच्चों को डिग्री के साथ संस्कार भी देने चाहिए। शिक्षा के साथ दीक्षा और संस्कार जरुरी हैं, नहीं तो डिग्री तो आतंकी भी लेते हैं। संस्कार के बिना ज्ञान विनाशकारी होता है। संस्कार बिना ज्ञान अधूरा होता है इसी से मनुष्य की सोच और चरित्र निर्माण होता है।

यह भी पढ़ें: माफिया डॉन को जेल में मिले अन्य अपराधी जैसा ही खाना और सुविधाएं: सीएम योगी

स्वामी विवेकानंद ने दुनिया को भारतीय संस्कृति से अवगत कराया। दुनिया के लोगो ने माना है विश्व की सर्वश्रेष्ठ संस्कृति भारत की है। जयपुरिया प्रबंधन को दिया संस्कृत शिक्षा देने का सुझाव। आधा घंटा ही पढ़ाएं संस्कृत। छात्र ज्ञान अर्जित करके और संस्कार के साथ समाज में अपनी भूमिका का निर्वहन करें।

यह भी पढ़ें: आठ गुना बढ़ा इटावा में मुलायम की कोठी का बिजली लोड

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Rajnath Singh says Moral teaching is must for students now days(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

अब मुख्यमंत्री योगी भी देंगे गरीबों को मुफ्त आशियानाअयोध्या के विकास के लिए योगी से मिले संत
यह भी देखें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »