PreviousNext

मुंबई नेवी बेस के पास दिखे एक संदिग्ध का स्केच जारी, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

Publish Date:Thu, 22 Sep 2016 03:46 PM (IST) | Updated Date:Fri, 23 Sep 2016 09:48 AM (IST)
मुंबई नेवी बेस के पास दिखे एक संदिग्ध का स्केच जारी, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
मुंबई के उरन में दिखे हथियारबंद लोगों में से एक संदिग्ध का स्केच जारी कर दिया गया है। पूरे मुंबई में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

मुंबई। मुंबई के निकट रायगढ़ जिले के उरन में कुछ संदिग्ध हथियारबंद लोगों के दिखने के बाद नौसेना एवं महाराष्ट्र पुलिस सहित तटीय सुरक्षा से संबंधित सभी एजेंसियां अत्यधिक चौकस हो गई हैं। मुंबई पुलिस ने एक संदिग्ध का स्केच जारी कर दिया है। इस मामले में महाराष्ट्र के डीजीपी अपनी जांच रिपोर्ट दे सकते हैं।

मुंबई से करीब 50 किलोमीटर दूर उरन में गुरुवार को सुबह उरण एजुकेशन सोसाइटी स्कूल के कुछ बच्चों ने पठानसूट जैसे काले कपड़ों में करीब 5-6 हथियारबंद संदिग्ध लोगों को देखा। संदिग्धों ने अपनी पीठ पर बैग भी टांग रखे थे।

प्रत्यक्षदर्शी दो बच्चों के अनुसार संदिग्ध आपस में किसी अनजानी भाषा में बात कर रहे थे। बच्चों ने उनके मुंह से 'ओएनजीसी' एवं 'स्कूल' जैसे शब्द सुने। संदेह होने पर बच्चों ने उनके बारे में अपने प्रधानाचार्य को सूचना दी। प्रधानाचार्य ने स्थानीय पुलिस को सूचित किया। पुलिस से नौसेना को पता चलते ही नौसेना ने उच्चतम चौकसी का संदेश जारी कर दिया। तटीय सुरक्षा से जुड़ी सभी एजेंसियां सक्रिय हो गईं।

नौसेना के प्रवक्ता राहुल सिन्हा ने बताया कि नौसेना ने हवाई निगरानी के लिए हेलीकॉप्टरों की गश्त शुरू कर दी है। साथ ही समुद्र क्षेत्र में जहाजों और तेज गति की नौकाओं की गश्त बढ़ा दी गई है। नौसेना के पीआरओ के अनुसार मछुआरों से कहा गया है कि कोई भी संदिग्ध व्यक्ति या नौका नजर आने पर वह संबंधित एजेंसियों को सूचित करें। सर्च ऑपरेशन के लिए नौसेना ने अपने हेलीकॉप्टरों की गश्त बढ़ा दी है।

बता दें उरन में नौसेना का एक केंद्र आइएनएस अभिमन्यु होने के अलावा केंद्रीय विद्यालय, कुछ और स्कूल, सत्र न्यायालय इत्यादि हैं। संदिग्धों की सूचना मिलने के बाद उरण सत्र न्यायालय खाली करा लिया गया। उरण में नौसेना की इलीट कमांडो फोर्स मार्कोस का भी केंद्र है। उरण से कुछ ही दूरी पर जवाहरलाल नेहरू पोर्ट, राजभवन, भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र जैसे संवेदनशील संस्थान भी हैं। इन सभी केंद्रों सहित मुंबई महानगर में भी सुरक्षा बंदोबस्त कड़े कर दिए गए हैं।

महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक सतीश माथुर के अनुसार प्रत्यक्षदर्शी बच्चों के अलग-अलग समूहों ने संदिग्धों की संख्या भिन्न-भिन्न बताई है। नवी मुंबई के पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले और अन्य वरिष्ठ अफसर उरण में उन बच्चों से संदिग्धों का और ब्योरा लेने की कोशिश कर रहे हैं। उरण में नवी मुंबई पुलिस एवं मुंबई में मुंबई पुलिस के अलावा एनएसजी एवं आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने भी मोर्चा संभाल लिया है।

मुंबई दो बार समुद्री मार्ग से आतंकी हमले का शिकार हो चुकी है। पहली बार 12 मार्च, 1993 को मुंबई में हुए सिलसिलेवार बम विस्फोटों के लिए आरडीएक्स जैसी विस्फोटक सामग्री समुद्री मार्ग से ही लाई गई थी। जबकि दूसरी बार 10 पाकिस्तानी आतंकियों ने 26 नवंबर, 2008 को समुद्री मार्ग से ही मुंबई में प्रवेश कर होटल ताज एवं सीएसटी रेलवे स्टेशन सहित कुछ और स्थानों पर चार दिन तक कहर ढाया था। इस हमले में चार दिनों में सुरक्षा बलों ने नौ आतंकियों को मार गिराया था, जबकि अजमल कसाब नामक एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया था।

अगर तीन दिन पहले नहीं हुई होती चूक, तो नहीं होता उड़ी हमला!

घाटी में लगातार 76वें दिन भी बंद, अलगाववादियों ने जारी किया नया कैैलेंडर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Suspect Armed men seen at Mumbai Navy base(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

गुजरात के बिजनेसमैन ने लिया शहीद जवानों के बच्चों की शिक्षा का जिम्माकावेरी मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट से टकराव की मुद्रा में कर्नाटक सरकार
यह भी देखें

संबंधित ख़बरें

जनमत

पूर्ण पोल देखें »