PreviousNext

डॉलर से भी 300 गुना महंगी है यह मुद्रा, जानकर हैरान रह जाएंगे आप!

Publish Date:Tue, 16 May 2017 11:17 AM (IST) | Updated Date:Tue, 16 May 2017 03:48 PM (IST)
डॉलर से भी 300 गुना महंगी है यह मुद्रा, जानकर हैरान रह जाएंगे आप!डॉलर से भी 300 गुना महंगी है यह मुद्रा, जानकर हैरान रह जाएंगे आप!
आप जानना चाहेंगे कि आखिर यह बिटकॉइन है क्या? कैसे काम करता है? यह कैश, मोबाइल वॉलेट और बैंक से कैसे अलग है? क्या मुझे इसका इस्तेमाल करना चाहिए?

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। दुनियाभर में इन दिनों फिरौती वायरस (रैनसम वेयर) की धूम है। हर कोई इस बात से डरा हुआ है कि कहीं उनकी जानकारी इस वायरस ने न चुरा ली हो। अगर ऐसा हुआ तो फिर डाटा वापस पाने के लिए फिरौती के रूप में मोटी रकम चुकानी पड़ेगी। नहीं चुकाई तो सारा डाटा खत्म करने की चेतावनी भी यह वायरस दे रहा है। फिरौती वसूलने के लिए वायरस जिस प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहा है उसका नाम 'बिटकॉइन' है।

बिटकॉइन के बारे में शायद आपने पहले न सुना हो, लेकिन दुनियाभर के कंप्यूटरों और मोबाइल फोनों पर रैनसम वेयर के हमले के बाद बिटकॉइन रातों-रात सबकी जुबान पर चढ़ गया है। ऐसे में आप जानना चाहेंगे कि आखिर यह बिटकॉइन है क्या? कैसे काम करता है? यह कैश, मोबाइल वॉलेट और बैंक से कैसे अलग है? क्या मुझे इसका इस्तेमाल करना चाहिए? आदि...

बिटकॉइन क्या है?

दरअसल बिटकॉइन एक नई और अनोखी डिजीटल टेक्नोलॉजी या वर्चुअल करेंसी है। इसका इस्तेमाल ग्लोबल पेमेंट के लिए किया जा सकता है। इसलिए कई डेवलपर्स और बिजनेस ने बिटकॉइन को अपनाया है। हजारों कंपनियों, लोगों और एनजीओ ने ग्लोबल बिटकॉइन सिस्टम को अपना लिया है। बिटकॉइन आज दुनिया की सबसे महंगी करेंसी बन गई है। फिलहाल एक बिटकॉइन की ऑनलाइन या बाजार कीमत करीब 300 डॉलर है। भारत में भी बिटकॉइन का इस्तेमाल करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। कम्प्यूटर नेटवर्कों के जरिए इस मुद्रा से बिना किसी मध्यस्थता (बिना बैंक) के ट्रांजेक्शन किया जा सकता है। वहीं, इस डिजिटल करेंसी को डिजिटल वॉलेट में भी रखा जाता है। बिटकॉइन को क्रिप्टोकरेंसी भी कहा जाता है।


कैसे काम करता है बिटकॉइन? 

अगर आप तकनीक को बहुत अच्छे से नहीं भी समझते हैं तो भी आप बिटकॉइन का इस्तेमाल कर सकते हैं। एक नए उपयोगकर्ता के रूप में आप बिटकॉइन को अपने कंप्यूटर या मोबाइल फोन पर बिटकॉइन वॉलेट के रूप में इंस्टॉल कर सकते हैं। इससे आपका पहला बिटकॉइन एड्रेस बनेगा और जरूरत पड़ने पर आप एक से ज्यादा एड्रेस भी बना सकते हैं। अब आप अपने मित्रों को अपना बिटकॉइन एड्रेस दे सकते हैं। इसके बाद आप उनसे भुगतान ले या उन्हें भुगतान कर भी सकते हैं।


यह कैश, मोबाइल वॉलेट और बैंक से कैसे अलग है?

दुनियाभर के देशों की अपनी अगल-अलग मुद्रा है। दुनियाभर में डॉलर के जरिए व्यापार होता है और हर मुद्रा की कीमत डॉलर के आधार पर ही ऊपर-नीचे होती रहती है। फोरेक्स बाजार में जिस तरह से रुपये, डॉलर, यूरो, येन आदि खरीदे-बेचे जाते हैं, उसी तरह बिटकॉइन की भी खरीददारी होती है। बिटकॉइन से आप ऑनलाइन तो खरीददारी कर ही सकते हैं, साथ ही साथ इसे कैश में भी भुना सकते हैं। इसके लिए बकायदा दुनियाभर में एक्सचेंज बनाए गए हैं। न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज और गोल्डमैन साक्स ने भी बिटकॉइन को काफी तेज और कुशल तकनीक बताया है और इसकी जमकर तारीफ भी की है।

विवादों में बिटकॉइन

वित्तीय लेन-देन के लिए बिटकॉइन सबसे तेज और कुशल मुद्रा मानी जा रही है। इसलिए बिटकॉइन को वर्चुअल करेंसी भी कहा जाता है। आज दुनियाभर के कंप्यूटरों को फिरौती वायरस से खतरा है और इसके लिए भी फिरौती बिटकॉइन के जरिए ही वसूली जा रही है। कालाधन, हवाला का धंखा, ड्रग्स की खरीद-बिक्री, टैक्स की चोरी और आतंकवादी गतिविधियों में इसके ज्यादा इस्तेमाल की वजह से भी बिटकॉइन खबरों में रहता है। बिटकॉइन के बढ़ते इस्तेमाल ने दुनियाभर के देशों में सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है। इधर भारत में रिजर्व बैंक या किसी भी अन्य रेग्युलेटर ने इस वर्चुअल मुद्रा को कानूनी मान्यता नहीं दी है।

बिटकॉइन के बारे में ये बातें आपको जरूर जाननी चाहिए

अगर आप बिटकॉइन के बारे में पता लगाने जा रहे हैं तो आपको कुछ बातें पता होनी चाहिए। बिटकॉइन आपको सामान्य बैंकों की तुलना में अलग तरीके से पैसे का आदान प्रदान करने की सुविधा देता है। किसी भी गंभीर लेन-देन के लिए बिटकॉइन का उपयोग करने से पहले आपको इन सारी बातों का पता होना चाहिए। बिटकॉइन को अपने नियमित वॉलेट के रूप में ही देखभाल की जानी चाहिए या और मामलों में कुछ और अधिक!

अगर सही तरीका इस्तेमाल किया जाए तो बिटकॉइन उच्च स्तर की सुरक्षा प्रदान करता है। ध्यान रखें कि अपने पैसे को हमेशा सुरक्षित रखना आपकी जिम्मेदारी है। कभी-कभी अस्थिर बाजार की वजह से बिटकॉइन की कीमत छोटी अवधि में ही बढ़ती या कम हो सकती है। यहां शेयर बाजार की तरह बिटकॉइन की कीमत कम-ज्यादा होती रहती है। इसलिए जागरण डाट काम आपको सलाह देता है कि अपनी जमापूंजी बिटकॉइन में न रखें। जिस पैसे के खोने से आपको कम से कम नुकसान हो उसी को बिटकॉइन वॉलेट में रखें।


क्या मुझे इसका इस्तेमाल करना चाहिए? 

बिटकॉइन एक प्रयोगात्मक नई मुद्रा है, जिसका विकास सक्रिय है। जैसे-जैसे इसका उपयोग बढ़ता है यह कम प्रयोगात्मक बनता जाता है। याद रखें कि बिटकॉइन एक नया आविष्कार है, जो नए तरीके खोज रहा है, जिसका आज तक प्रयोग नहीं किया गया। इसलिए इसका भविष्य कोई नहीं बता सकता। यही नहीं भारत में रिजर्व बैंक या किसी भी अन्य रेग्युलेटर ने इसे मान्यता भी नहीं दी है। इसलिए इसका इस्तेमाल पूरी तरह से आपके विवेक पर है। बिटकॉइन के ट्रांजेक्शन में व्यक्तिगत जानकारियों की जरूरत नहीं होती है। लेकिन क्रेडिट कार्ड या बैंक ट्रांजेक्शन के विपरीत इससे होने वाले ट्रांजेक्शन इररीवर्सिवल होते हैं। यानी अगर आपने एक बार गलत भुगतान कर दिया तो उसे वापस नहीं लिया जा सकता। अंत में फैसला आपका है, आप चाहें तो तेजी से बढ़ती इस ई-मुद्रा का इस्तेमाल करें या न करें...

यह भी पढ़ें: भारत में 12 लाख लोगों की मौत के गुनहगार का अब होगा खात्मा

यह भी पढ़ें: हमले की सूरत में चीन को करनी ही होगी उत्‍तर कोरिया की मदद, जानें क्‍यों

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:know bitcoin and its expanding business across the globe(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

आप भी काफी देर तक पेशाब रोकते हैं तो सावधान! यह खबर आपके लिए हैINX मीडिया मामले में कार्ति चिदंबरम और इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ FIR
यह भी देखें