Dainik Jagran Hindi News

www.jagran.com
July 23,2014
1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | Next »

उत्तरकाशी

जेठ व सास को सात साल कैद

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: दहेज के लिए विवाहिता की हत्या के मामले में जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जेठ व सास को सात-सात साल कारावास की सजा सुनाई है। विवाहिता की शादी के छह महीने बाद संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। विवाहिता के मायके पक्ष ने ससुराल वालों पर दहेज के लिए हत्या करने का आरोप लगाते मुकदमा दर्ज कराया था। अभियोजन पक्ष के अनुसार वर्ष 2009 में पांच अगस्त को कुंजन गांव निवासी भागवत सिंह न... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 23 Jul 2014 01:02 AM (IST)
        

गंगोत्री हाईवे को विकल्प की तलाश

alternative way

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: आपदा की मार से बेहाल हुए गंगोत्री राजमार्ग को वैकल्पिक मोटर मार्गो की दरकार है। हाईवे के दरकते बड़े हिस्सों के स्थान पर सुरक्षित इलाकों में वैकल्पिक मार्ग के निर्माण के बाद ही भागीरथी घाटी में पूरे साल आवाजाही बहाल की जा सकती है। गंगोत्री राजमार्ग उत्तरकाशी से गंगोत्री तक सौ किमी के लंबे हिस्से में फिलहाल 50 किमी से भी ज्यादा का हिस्सा दरक रहा है। हाईवे पर मनेरी से भटवाड़ी ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 23 Jul 2014 01:01 AM (IST)
        

नदी पार करते ट्रॉली से कटी हाथ की उंगलियां

accident

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी : आपदा में ध्वस्त हुए पुलों की जगह लगी ट्रॉलिया भी लगातार परेशानी का सबब बन रही हैं। मंगलवार को सेकू गांव में ट्रॉली से नदी पार करते समय एक व्यक्ति की तीन उंगलियां कट गई। उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया। डॉक्टरों ने उसकी जख्मी उंगलियों को काटकर अलग किया। मंगलवार को सेकू गांव के कृपाल सिंह गांव से उत्तरकाशी की ओर आ रहे थे। असी गंगा में बहे पुल के स्थान पर बनी ट्रॉली ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 23 Jul 2014 12:57 AM (IST)
        

सात गांव में भुखमरी के हालात

संवाद सूत्र, पुरोला : एक वर्ष से क्षतिग्रस्त बैंचा पुल न बनने से लिवाड़ी, फिताड़ी, राला, कास्ला, रैक्चा व पुजेली गांव में तीन माह से खाद्यान्न आपूर्ति बंद है जिससे इन गांवों में भुखमरी की स्थिति पैदा होने लगी है। हालात की जानकारी मिलने पर मंगलवार को एसडीएम ने पीएमजीएसवाई को पुल की मरम्मत करने के साथ ही पूर्ति विभाग को शीघ्र खाद्यान्न आपूर्ति के निर्देश दिए। क्षतिग्रस्त बैंचा घाटी पुल से सात गांव... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 23 Jul 2014 12:57 AM (IST)
        

डामरीकरण न होने पर आंदोलन की चेतावनी

संवाद सूत्र, बड़कोट : नौगाव विकास खंड के दूरस्थ सरनौल क्षेत्र के ग्रामीणों की सुध लेने वाला कोई नहीं है। मोटर मार्ग को लेकर वर्षो पहले ग्रामीणों के लंबे आंदोलन के बाद प्रधान मंत्री सड़क योजना के तहत गंगटाड़ी-सरनौल मोटर मार्ग का निर्माण किया गया। मोटर मार्ग की कटिंग हुए करीब आठ साल बीत गए हैं, लेकिन आज तक सड़क का डामरीकरण नहीं हो सका है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजकर डामरीकरण का कार्य शुरू न ... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 21 Jul 2014 01:02 AM (IST)
        

बंद होती सड़कों पर फिर शुरू हुई यात्रा

उत्तरकाशी: जिले में बारिश व भूस्खलन के चलते गंगोत्री व यमुनोत्री हाईवे के बाधित होने का सिलसिला जारी है। रविवार की सुबह भी गंगोत्री हाईवे नालूपाणी, नैताला व सुक्की में बंद रहा। लेकिन बीआरओ ने नालूपाणी में सुबह आठ बजे व नैताला में नौ बजे तक हाईवे खोल दिया था। जबकि सुक्की में हाईवे खुलने और बंद होने का सिलसिला चलता रहा। वहीं यमुनोत्री हाईवे सुबह बाडिया के समीप बंद होने पर नौ बजे तक खोल दिया गया था। ... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 21 Jul 2014 01:01 AM (IST)
        

उफनाई नदी ने बढ़ाई मुसीबतें

people in danger

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: बीते कई दिनों से जारी बारिश से उफनाई भागीरथी नदी ने तटवर्ती इलाकों में रह रहे लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी है। नगर क्षेत्र की ओर किए गए अस्थाई बाढ़ सुरक्षा कार्यो के नदी में बह जाने के बाद फिर से तटवर्ती इलाकों में बसे घरों पर खतरा मंडराने लगा है। एहतियात के तौर पर तटवर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों ने फिलहाल रिश्तेदारों के घरों में शरण ली हुई है। बीते दिनों से भारी बारिश क... और पढ़ें »

Updated on: Mon, 21 Jul 2014 01:00 AM (IST)
        

गंगोत्री जा रहे करीब दो सौ कांवड़िये उत्तरकाशी में रोके

road block

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : बारिश व भूस्खलन के कारण गंगोत्री व यमुनोत्री हाईवे बंद होने का सिलसिला शनिवार को भी जारी रहा। गंगोत्री हाईवे नैताला व नालूपाणी में खुलने के बाद योग गुरु बाबा रामदेव का काफिला उत्तरकाशी से हरिद्वार की ओर रवाना हो सका। दर दराज के क्षेत्रों में भी लिंक मार्ग बंद होने से खाद्यान्न संकट गहराने लगा है। भागीरथी व सहायक नदियों का जलस्तर बढ़ने से तटवर्ती इलाकों में परेशानियां... और पढ़ें »

Updated on: Sun, 20 Jul 2014 01:04 AM (IST)
        

नदी के कटाव से खतरे में महाविद्यालय

rain to be create the problam

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: भागीरथी में उफान से राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय उत्तरकाशी के पुरीखेत परिसर को खतरा पैदा हो गया है। परिसर के निचले हिस्से में तेजी से कटाव हो रहा है। इससे कला व बीएड संकाय के साथ ही कई अन्य भवनों के लिए भी खतरा बढ़ रहा है। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के पुरीखेत परिसर के लिए भागीरथी का बढ़ता जलस्तर बढ़े खतरा बनने लगा है। गत वर्ष भागीरथी में आई बाढ़ से परिसर के निचले... और पढ़ें »

Updated on: Sat, 19 Jul 2014 05:32 PM (IST)
        

उत्तरकाशी में खतरे का पर्याय बने मोटर पुल

public problem

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी : उत्तरकाशी में बने मोटर पुल खतरे का सबब बने हुए हैं। इनकी हालत इतनी खराब है कि आवाजाही के लिहाज से ये पुल सुरक्षित नहीं हैं। गंगोत्री राजमार्ग पर बने मोटर पुलों की स्थिति बेहद नाजुक बनी हुई है। जिन नदियों और नालों पर ये पुल बने हैं उनमें मामूली उफान आने पर बुरी तरह से ध्वस्त हो सकते हैं। इससे गंगोत्री हाईवे पर लंबे समय के लिए आवाजाही ठप पड़ सकती है। गंगोत्री राजमार्ग पर ... और पढ़ें »

Updated on: Sat, 19 Jul 2014 05:06 PM (IST)
        

दोनों धाम में पसरा सन्नाटा

dddddd

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : गंगोत्री व यमुनोत्री धाम की यात्रा शुक्रवार को पूरी तरह बंद रही। जिला प्रशासन ने दोनों धामों की ओर जाने वाले यात्रियों व शिवभक्तों को रोके रखा। इसके चलते दोनों धामों में पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। इस बरसात के सीजन में पहली बार गंगोत्री व यमुनोत्री धाम तक यात्री नहीं पहुंच सके। इस बार यात्रियों की तादाद पहले से ही कम रही, लेकिन मौसम ठीक रहने के कारण दोनों धामों में निर... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 06:31 PM (IST)
        

सावन की फुहार में फुल्यार का उल्लास

phulyar

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : सावन की शुरुआत के साथ गंगा घाटी में फुल्यार मेलों का आयोजन शुरू हो गया है। शुक्रवार को अगोड़ा गांव में आयोजित मेले में नागदेवता मंदिर परिसर में ग्रामीणों ने उत्साहपूर्वक मेले में शिरकत की। असीगंगा घाटी के अगोड़ा गांव में परंपरानुसार गांव के आराध्य देवता को सावन की शुरुआत पर बुग्याल से लाकर फूल चढ़ाए गए। मेले से एक दिन पहले दो लोगों को चुनकर फूलों के लिए बुग्याल की ओर भे... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 05:27 PM (IST)
        

आफत बनकर बरस रही बूंदे

rain

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: जिले में गत दिनों से जारी बारिश से 59 गांवों के वजूद पर खतरा मंडराने लगा है। बारिश से पैदा हुई मुश्किलों से इन गांवों के 1675 परिवारों को अभी भी सुरक्षित ठिकानों की दरकार है। ये सभी गांव गत वर्षो आई आपदा के चलते रहने के लिहाज से असुरक्षित बने हुए है, लेकिन प्रशासन की ओर से सुरक्षित ठिकानों की व्यवस्था न करने से ग्रामीण मजबूरन यहां रहने को मजबूर हैं। गत वर्षो की आपदा से ज... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 05:10 PM (IST)
        

सावन में सूखा जनता का गला

water problam

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी : मानसून की दस्तक के साथ ही नगर क्षेत्र में भी पानी की आपूर्ति डगमगाने लगी थी। बीते दिनों से भारी बारिश के बीच नगर क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति पूरी तरह से ठप है। लोगों को भारी बारिश के बीच ही रोजमर्रा की जरूरतों का पानी जुटाने के लिए हैंडपंपों पर लंबी लंबी लाइनें लगानी पड़ रही है। बीते दिनों से भारी बारिश में नगर क्षेत्र में ठप पड़ी पेयजल आपूर्ति ने लोगों की मुश्किलें और ज्या... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 04:28 PM (IST)
        

डर के साये में जिंदगी बिता रहे ग्रामीण

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी : डुंडा प्रखंड के रतूड़ीसेरा गांव पर भारी खतरा मंडरा रहा है। गांव के नीचे गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर हो रहे भूस्खलन ने गांव के वजूद को भी खतरे में डाल दिया है। वहीं, गांव के निचले हिस्से में पुल का काम कर रही एनबीसीसी ने ग्रामीणों की रोजी रोटी का जरिया भी छीन लिया है। गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़े रतूड़ीसेरा गांव के वजूद पर खतरा मंडराने लगा है। गांव के निचले हि... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 01:12 AM (IST)
        

साझा किया रचनात्मक लेखन

workshop for childrens

संवाद सूत्र, बड़कोट : अजीम प्रेमजी फाउंडेशन की ओर से बड़कोट में स्कूली बच्चों के लिए आयोजित रचनात्मक लेखन कार्यशाला में बच्चों ने उत्साहपूर्वक शिरकत की। तीन दिवसीय कार्यशाला के समापन पर बच्चों ने तैयार की गई पत्रिका की प्रदर्शनी लगाई। अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के बड़कोट स्थित पुस्तकालय व गतिविधि केंद्र पर आयोजित कार्यशाला में प्राथमिक विद्यालय बड़कोट गांव व आदर्श विद्यालय के 30 बच्चों ने प्रतिभाग किया। क... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 01:12 AM (IST)
        

गोमुख व तपोवन से गंगोत्री लौटे रामदेव

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : गोमुख व तपोवन की यात्रा से लौटकर योग गुरु स्वामी रामदेव गुरुवार सांय गंगोत्री धाम पहुंचे। यहां ईशावस्यम आश्रम में विश्राम के बाद वे तीर्थ पुरोहितों व साधु संतों से रूबरू हुए। योग गुरु स्वामी रामदेव बीते बुधवार को गंगोत्री धाम से 153 लोगों के साथ गोमुख की ओर रवाना हुए थे। दोपहर बाद करीब तीन बजे वे गोमुख पहुंच गए थे। गुरुवार को वहां से लौटने पर स्वामी रामदेव ने बताया क... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 01:12 AM (IST)
        

नदियों के प्रवाह ने बढ़ाई परेशानी

g[p

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी: जिले के विभिन्न हिस्सों में हो रही बारिश परेशानियां पैदा कर रही है। भागीरथी व सहायक नदियों के बढ़े जलस्तर से तटवर्ती आबादी को खतरे के साथ ही बाढ़ सुरक्षा कार्य पूरी तरह प्रभावित हो गए हैं। उत्तरकाशी नगर क्षेत्र में मुख्य बाजार की ओर लगाए वायरक्रेट बहने से लोग दहशत में हैं। भूस्खलन से पुरोला क्षेत्र में तीन मकान दब गए। वहीं, भूकटाव से सड़कों व पुलों पर भी खतरा मंडरा रहा ह... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 01:12 AM (IST)
        

स्कूलों को भी विस्थापन का इंतजार

school bulding

संवाद सहयोगी, उत्तरकाशी: आपदा के लिहाज से संवेदनशील उत्तरकाशी जिले में सबसे ज्यादा खतरे में मासूमों की जान है। खतरनाक जगहों पर बने स्कूल भवनों में मासूम मौत के साए में ही पढ़ने लिखने को मजबूर हैं। वहीं, शिक्षा विभाग भी खतरनाक स्थानों पर बने स्कूलों की सुरक्षा को लेकर फिक्रमंद नजर नहीं आ रहा है। शायद यही कारण है कि दो सालों में बड़ी आपदाओं के बावजूद भी खतरे की जद में आए स्कूलों को अन्यत्र स्थानांतरि... और पढ़ें »

Updated on: Fri, 18 Jul 2014 01:11 AM (IST)
        

बाबा रामदेव गोमुख पहुंचे

baba ramdave

जागरण संवाददाता, उत्तरकाशी : अध्यात्मिक यात्रा पर निकले योग गुरु बाबा रामदेव बुधवार को गोमुख पहुंच गए। उनके साथ यात्रा में 151 लोगों का जत्था भी गोमुख की ओर रवाना हुआ। पार्क प्रशासन ने गंगोत्री में ही सभी लोगों को गोमुख ट्रैक पर प्रवेश की अनुमति जारी की। योग गुरु बाबा रामदेव बीते मंगलवार की सांय गंगोत्री धाम पहुंच गए थे। उनके साथ भारत स्वाभिमान मंच के करीब चार सौ कार्यकर्ता भी शामिल थे। गंगोत्री ... और पढ़ें »

Updated on: Wed, 16 Jul 2014 06:16 PM (IST)
        
(News from Uttarkashi, Uttarakhand)
1 | 2 | 3 | 4 | 5 | 6 | 7 | 8 | 9 | 10 | Next »
यह भी देखें