PreviousNext

बिहार: विचित्र बच्चे का फिर हुआ जन्म, डॉक्टरों ने कहा-गंभीर बीमारी

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 08:41 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 11:36 PM (IST)
बिहार: विचित्र बच्चे का फिर हुआ जन्म, डॉक्टरों ने कहा-गंभीर बीमारीबिहार: विचित्र बच्चे का फिर हुआ जन्म, डॉक्टरों ने कहा-गंभीर बीमारी
कटिहार में एक बार फिर विचित्र तरह के दिखने वाले बच्चे ने जन्म लिया है। पिछले कुछ महीने में इस तरह के कई बच्चों का जन्म हुआ है। डॉक्टर इसे जेनेटिक डिस्अॉर्डर बता रहे हैं।

कटिहार [जेएनएन]। पिछले कुछ महीने में बिहार में जेनेटिक डिस्अॉर्डर से ग्रस्त कुछ बच्चों ने जन्म लिया है जिन्हें देखकर लोग एलियन बेबी कहते हैं। रोग से ग्रस्त ये बच्चे कुछ ही दिनों तक जिन्दा रह पाते हैं क्योंकि उनके सभी अंग पूरी तरह विकसित नहीं होते।

डॉक्टरों का कहना है कि मां-बाप के जीन में हुए म्यूटेशन के कारण इस तरह के बच्चों का जन्म हो रहा है।इन बच्चों के अंग पूरी तरह विकसित नहीं होते जिससे ये बच्चे कुछ ही दिनों बाद मर जाते हैं। इन बच्चों के शरीर के उपर किराटिम लेयर होता है, जिससे बच्चे की त्वचा आक्सीजन नहीं ले पाती है। इसे हर्लेक्विन इचथिस्योसिस बीमारी कहते हैं। 

ताजा मामला कटिहार का है, जहां सोमवार को एक एेसे ही एलियन जैसे बच्चे का जन्म हुआ। जन्म के बाद उसे देखने के लिए दूर-दूर से लोग वहां पहुंचने लगे। वहीं अजीब दिखने के बावजूद बच्चे की मां उसे गोद में लेकर बैठी रही। हालांकि पहली बार देखकर वो भी बेहद डर गई थी। बताया जा रहा है कि नवजात का जन्म 19 मार्च को रात के साढ़े दस बजे कदम गाछी में एक माध्यम वर्गीय परिवार में हुआ है। 

जन्म के समय नवजात का रंग जहां हरा था। वहीं उसके शरीर पर कछुए की तरह धारीदार आकृति बनी हुई थी। उसका सिर भी पूर्ण रूप से विकसित नहीं था। बच्चे के शरीर के जहां कई हिस्से विकसित नहीं थे। जानकारी के मुताबिक बच्चे की आंख, नाक, कान और हाथ पूरी तरह से डेवलप नहीं हुआ है।
बच्चे के जन्म के बाद उसका अजीबो गरीब शरीर देख उसकी मां बिलकुल डर गई। बच्चे का मुंह काफी बड़ा दिखता है। गांव के मो. असफाक ने बताया कि अल्लाह ने शायद इन्हें केवल देखने के लिए ही भेजा है। जन्म के समय उनके शरीर का ढांचा कुछ अलग था। अब धीरे-धीरे शरीर का आकार एवं ढांचा में परिवर्तन होने लगा है।
गांववालों में कुछ लोगों ने बच्चे को दूसरी दुनिया का आदमी एलियन बता रहे हैं जबकि कुछ लोग हनुमान का एक रूप बता रहे है। बहरहाल उक्त बच्ची का जन्म पूरे आजमनगर क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।
डॉक्टरों का क्या है कहना
महिला की डिलिवरी कराने वाली डॉक्टर का कहना है कि पहले भी इस तरह के मामले आ चुके हैं। उन्होंने बताया कि हो सकता है कि मां-बाप के जीन में हुए म्यूटेशन के कारण बच्चे का ऐसा रूप हुआ। बच्चे के शरीर के उपर किराटिम लेयर होता है, जिससे बच्चे की त्वचा आक्सीजन नहीं ले पाती है। 
वहीं एक डॉक्टर ने इसे हर्लेक्विन इचथिस्योसिस बीमारी बताया।  उन्होंने कहा कि 10 लाख बच्‍चों में से कोई एक बच्चा ऐसा होता है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Amazing baby born again in bihar doctors said Genetic disorder(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

सीएस ने लिया छिड़काव कार्य का जायजावार्ड सदस्य संघ की बैठक 26 को
यह भी देखें