वेनिस, रायटर। इटली का खूबसूरत वेनिस शहर इतिहास के दूसरे सबसे बड़े ज्वार से तबाह हो गया है। वेनिस के मेयर ने बुधवार को पूरे शहर को आपदाग्रस्त क्षेत्र घोषित कर दिया। बाढ़ से पूरा शहर किस कदर प्रभावित हुआ है, इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि ऐतिहासिक बेसिलिका सहित कई गली-मुहल्ले पूरी तरह पानी में डूब गए हैं। इस जल आपदा में एक व्यक्ति की मौत भी हुई है।

सरकार से आपातकाल की घोषणा करने के लिए कहेंगे- वेनिस मेयर

अधिकारियों के मुताबिक, स्थानीय समयानुसार मंगलवार रात दस बजकर सात मिनट पर समुद्र में छह फीट दो इंच (187 सेमी) ऊंची लहरें उठीं। यह 1966 के 194 सेमी ऊंची लहरों की तुलना में कुछ ही कम थीं। इन लहरों की चपेट में आकर शहर का सेंट मा‌र्क्स स्क्वायर और उसके बगल में स्थित बेसिलिका पानी में डूब गया। वेनिस के मेयर लुइगी ब्रूगनारो ने ट्विटर पर कहा, स्थिति बहुत नाटकीय थी। हमने सरकार से मदद के लिए कहा है। हमें बहुत धन की जरूरत होगी। यह जलवायु परिवर्तन का परिणाम है। आपदाग्रस्त क्षेत्र की घोषणा के साथ ही हम सरकार से आपातकाल की घोषणा करने के लिए कहेंगे।

वेनिस में बाढ़ से बचने की योजना घोटाले की भेंट चढ़ी

उच्च ज्वार के समय वेनिस को बाढ़ से बचाने के लिए 1984 में एक परियोजना की डिजाइन तैयार की गई थी, लेकिन करोड़ों यूरो की यह परियोजना घोटालों की भेंट चढ़ गई और आज तक यह मूर्त रूप नहीं ले सकी।

गौरतलब है कि जलवायु परिवर्तन का असर लगभग विश्‍व के हर देश पर देखने को मिल रहा है। भारत में भी जलवायु परिवर्तन के कारण कई राज्‍यों में बाढ़ और प्रदूषण से हालात काफी गंभीर हो जाते हैं। ये एक ऐसी समस्‍या है, जिसका विश्‍व के सभी देशों को मिलकर सामना करना पड़ेगा। अगर ऐसा नहीं किया गया, तो वेनिस जैसी प्राकृतिक आपदा अन्‍य देशों में भी देखने को मिलेंगी।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप