लंदन, एएनआइ। ब्रिटेन दूसरे देशों से लौटने वाले उन लोगों के लिए इस महीने के आखिर से पीसीआर टेस्ट की अनिवार्यता खत्म करेगा जिनका पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। ब्रिटेन के परिवहन मंत्री ग्रांट शैप्पस के एक नजदीकी सूत्र के हवाले से टाइम्स ने रविवार को यह बात कही।

मीडिया के मुताबिक सूत्र ने कहा कि इस महीने के अंत से पूर्ण टीकाकरण वालों के लिए लौटने पर अनिवार्य पीसीआर टेस्ट को खत्म करने पर विचार किया जा रहा है। यह संयोग है कि 26 जनवरी को ही प्लान बी उपायों की भी समीक्षा की जानी है।

अखबार के मुताबिक इस कदम से ब्रिटिश परिवार के सैकड़ों पाउंड बचेंगे और पयर्टन उद्योग को वापस पटरी पर लाने में मदद मिलेगी। पूर्ण टीकाकरण वालों के लिए पीसीआर टेस्ट की अनिवार्यता खत्म करने के साथ ही अन्य पाबंदियों में भी ढील देने पर विचार किया जा रहा है। इसमें दुकानों और सार्वजनिक परिवहन के साधनों में फेस मास्क पहनने की अनिवार्यता खत्म करना भी शामिल है।

बता दें कि क्रिसमस से पहले ब्रिटेन में कोरोना के मामलों में उछाल देखने को मिला था। सात दिसंबर को अधिकारियों ने नए ओमिक्रोन स्ट्रेन के प्रसार के बीच देश में प्रवेश करने वाले 12 साल से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों के लिए कोविड-19 के परीक्षण की नेगेटिव रिपोर्ट पेश करना अनिवार्य कर दिया था। इन नियमों के अनुसार, सभी यात्रियों को उनके आगमन से 48 घंटे पहले एक नकारात्मक पीसीआर परीक्षण प्रस्तुत करना आवश्यक था।

आठ दिसंबर को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जानसन ने घोषणा की कि देश प्लान बी की शुरुआत करेगा। इस दौरान लोगों वर्क फ्रोम होम के लिए प्रोत्साहित किया गया था और मास्क अनिवार्य कर दिया गया था। इसके अलावा सार्वजनिक स्थानों पर जाने के लिए टीकाकरण की पुष्टि करने वाला एक कोविड-19 पास भी अनिवार्य कर दिया गया था। इसके साथ ही उन लोगों को दैनिक परीक्षण की आवश्यकता थी जो कोरोनवायरस के वाहक के संपर्क में आ सकते थे। कुछ दिनों बाद ब्रिटिश एयरलाइंस ने जानसन से पूरी तरह से टीकाकरण वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य कोविड-19 परीक्षणों को समाप्त करने के लिए कहा।

Edited By: Neel Rajput