लंदन, प्रेट्र। ब्रिटेन में दुर्लभ बीमारी से जूझ रही भारतीय महिला के पक्ष में हजारों लोग खड़े हो गए। एक ऑनलाइन याचिका पर लोगों ने हस्ताक्षर करते हुए गृह मंत्रालय से पीड़िता को ब्रिटेन में रुकने की इजाजत देने की मांग की है।

भवानी एस्पाथी दुर्लभ बीमारी 'क्रोन्स' से पीड़ित हैं। यह पाचन तंत्र से जुड़ा रोग है, जिसका इलाज फिलहाल भारत में उपलब्ध नहीं है। भवानी के समर्थन में याचिका पर चेंजडाटओआरजी पर तकरीबन डेढ़ लाख लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं।

याचिका की शुरुआत 31 वर्षीय कलाकार के मंगेतर मार्टिन मैंगलर ने की है। वह जर्मनी के नागरिक हैं। लंदन निवासी भवानी का मामला हाल में तब प्रकाश में आया, जब ब्रिटेन में मानवाधिकार आधार पर रहने की उनकी अर्जी खारिज कर दी गई।

मैंगलर की याचिका में लिखा गया है, 'चिकित्सकों ने कहा कि उन्हें यहां रहने की जरूरत है, लेकिन गृह मंत्रालय उन्हें भारत वापस भेजना चाहता है। भवानी बेहोश और कोमा में हैं। चिकित्सकों का कहना है कि उन्हें वापस भेजना खतरनाक है।' गृह मंत्रालय ने कहा कि मामले की फिर से समीक्षा की जा रही है, क्योंकि उसे मार्च में 'ताजा सुबूत' मुहैया कराए गए हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप