लंदन,एजेंसी। ब्रिटेन सरकार ने कोरोना वायरस की जांच का दायरा बढ़ाते हुए कहा है कि इस वर्ष जून तक इसका विस्‍तार किया जाएगा। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने शुक्रवार को कहा कि जून तक घरों में रह रहे लोगों और कर्मचारियों का परीक्षण भी किया जाएगा। उन्‍होंने आगे कहा कि यह परीक्षण न केवल कोरोना वायरस के लक्ष्‍ण वाले मरीजों का, बल्कि जिसकों लक्ष्‍ण नहीं है उसको भी जांच के दायरे में लाया जाएगा। ब्रिटेन सरकार को यह ऐलान ऐसे वक्‍त पर आया है, जब इंग्‍लैंड और वेल्‍स में घरों में रह रहे 25 फीसद लोगों की मौत का कारण कोरोना वायरस बताया जा रहा है। 

DHSC का चौंकाने वाला आंकड़ा 

देश के स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल विभाग (DHSC) ने एक चौंकोने वाला तथ्‍य उजागर किया है कि कोरोना महामारी की शुरुआत से अगर 2 मार्च से 1 मई तक के आंकड़े पर नजर दौडा़ए तो घर पर देखभाल कर रहे लोगों की मौत की संख्‍या सर्वाधिक है। यह संख्‍या  45 हजार के पार है। मरने वालों में  12 हजार से अधिक मामले कोरोना संक्रमितों की है। यह आंकड़ा करीब 27 फीसद है। इसलिए ब्रिटेन सरकार का कहना है कि कोरोना वायरस के परीक्षण का दायरा बढ़ाया जाएगा।

केयर होम के लिए इस सप्ताह 600 मिलियन यूरो उपलब्ध

केयर होम के लिए आवंटित राशि की ओर इशारा करते हुए हैनकॉक ने कहा कि इस सप्ताह 600 मिलियन यूरो उपलब्ध कराया गया था, इसके अलावा मार्च और अप्रैल में 3.2 बिलियन यूरो उपलब्ध कराया गया था। ब्रिटेन में अब तक कोरोना संक्रमितों मरीजों की संख्‍या 236,711 के पार हो गई है। कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा 33,998 के पार पहुंच गई है। वर्तमान में कोरोनोवायरस के साथ कुल 10,024 लोग अस्पताल में हैं। ब्रिटेन में अब तक 2,353,078 लोगों की कोरोना वायरस की जांच हो चुकी है।

जून तक कोरोना मुक्त हो सकता है लंदन

कैम्ब्र‍िज यूनिवर्सिटी और पब्लिक हेल्थ इंग्लैंड द्वारा शुक्रवार को प्रकाशित एक विश्लेषण के अनुसार, जून तक लंदन कोरोना मुक्त हो सकता है। विश्लेषण में कहा गया है कि जब 23 मार्च को लॉकडाउन का एलान हुआ था तो प्रतिदिन लगभग 200,000 संक्रमण के नए मामले आ रहे थे, लेकिन अगले महीने तक इसमें नाटकीय कमी आने की उम्मीद है।    

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस