मॉस्को, आइएएनएस। देश के नए प्रधानमंत्री के रूप पर मिखाइल मिशुस्तीन की नियुक्ति के बाद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपनी नई कैबिनेट का गठन किया है। इसमें उप प्रधानमंत्रियों की संख्या दस से घटाकर नौ कर दी गई है, जिनमें पांच नए चेहरे हैं।

राष्ट्रपति भवन की अधिसूचना के अनुसार, नई कैबिनेट में पुतिन के सहयोगी आंद्रे बेलोसोव को शामिल करते हुए उन्हें प्रथम उप प्रधानमंत्री बनाया गया है। जबकि अभी तक इस पद को संभाल रहे एंटोन सिलुआनोव को वित्त मंत्रालय का भार सौंपा गया है।

उप प्रधानमंत्री के तौर पर कैबिनेट में शामिल किए गए दिमित्री ग्रिगोरेंको को रूस सरकार के चीफ ऑफ स्टाफ की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिन मंत्रियों के विभागों में कोई फेरबदल नहीं की गई है, उनमें विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव, रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू और गृह मंत्री व्लादिमीर कोलोकोलत्सेव शामिल हैं।

पूर्व मेयर मारात खुसनुल्लिन को भी बनाया गया उप प्रधानमंत्री

नौ नए उप प्रधानमंत्रियों में दिमित्री ग्रिगोरेंको, मॉस्को में शहरी विकास और निर्माण के लिए पूर्व मेयर मारात खुसनुल्लिन, फेडरल सर्विस फॉर स्टेट रजिस्ट्रेशन की पूर्व प्रमुख विक्टोरिया अब्रामशेंको, गैजप्रोम मीडिया बोर्ड के पूर्व प्रमुख दमित्री चेर्नीशेंको और फेडरल टैक्स सर्विस के पूर्व उप प्रमुख एलेक्सी ओवरचुक भी शामिल हैं। दमित्री ग्रिगोरेंको चीफ ऑफ स्टाफ ऑफ द गवर्नमेंट का पद भी संभालेंगे।

अलेक्जेंडर नोवाक को बनाया गया ऊर्जा मंत्री

एक अन्य आदेश के अनुसार सर्गेई लावरोव रूस के विदेश मंत्री के पद पर कायम हैं। अपने पद पर कायम रहने वाले पूर्व मंत्रिमंडल के सदस्यों में रक्षामंत्री सर्गेई शोईगू, आंतरिक मंत्री व्लादिमीर कोलोकोल्त्सेव, ऊर्जा मंत्री अलेक्जेंडर नोवाक, व्यापार और उद्योग मंत्री डेनिस मानटुरोव हैं। 

पर्म क्राई के गवर्नर मेक्सिम रेशेत्निकोव ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है और वह आर्थिक विकास मंत्री बना दिए गए हैं। एंटोन सिलुआनोव प्रथम उपप्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा देकर वित्तमंत्री बन गए हैं।

यह भी पढ़ें: रूस के संवैधानिक संकट के पीछे पुतिन की मंशा जानकार दंग रह जाएंगे आप, जानें- क्‍या है पूरा मामला

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस