मास्को, रायटर। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का गामा संस्करण, पहली बार ब्राजील में पाया गया था। कोरोना वायरस के वेरिएंट्स तेजी से बदल रहे हैं। इंटरफैक्स समाचार एजेंसी ने गुरुवार को बताया कि रूस में कम मात्रा में गामा संस्करण पाया गया है, इंटरफैक्स ने रूसी संस्थान का हवाला देते हुए कहा‌ 'डेल्टा संस्करण रूसी संघ के क्षेत्र में व्यापक है, गामा संस्करण के अलग-अलग मामलों का पता चला है,'

कोरोना वायरस के बदलते वेरिएंट्स

कोरोना वायरस उत्परिवर्तन (म्यूटेशन) के माध्यम से लगातार बदलते रहते हैं। और यही कारण है कि कोरोना वायरस के नए वेरिएंट्स पाए जा रहे हैं। वायरस लगातार बदलते हैं और अधिक प्रभावशाली हो जाते हैं। वैज्ञानिक इन परिवर्तनों की निगरानी करते हैं, जिसमें वायरस की सतह पर स्पाइक्स में परिवर्तन शामिल हैं। विषाणुओं का सावधानीपूर्वक अध्ययन करके, वैज्ञानिक यह जान सकते हैं कि विषाणु में होने वाले परिवर्तन कैसे प्रभावित करते हैं कि यह कैसे फैलता है, इसके साथ ही वैज्ञानिक यह पता लगाने की कोशिश भी करते हैं कि यह किस प्रकार से लोगों को मार कर सकता है।

कुछ विविधताएं वायरस को अधिक आसानी से फैलने देती हैं या इसे उपचार या टीकों के लिए प्रतिरोधी बनाती हैं। वैज्ञानिकों और डॉक्टरों का कहना है कि वायरस की उन रूपों की अधिक सावधानी से निगरानी की जानी चाहिए। कोरोना वायरस उत्परिवर्तन (म्यूटेशन) के कारण ही

गामा संक्रमण पाया गया है। गामा संक्रमण का पहली बार संयुक्त राज्य अमेरिका में जनवरी 2021 में पता चला था। जबकि P.1 गामा संक्रमण को शुरू में ब्राजील के यात्रियों में पहचाना गया था, जिनका जनवरी की शुरुआत में जापान के एक हवाई अड्डे पर नियमित स्क्रीनिंग के दौरान परीक्षण किया गया था। और अब गामा संक्रमण को रूस में कम मात्रा पाया गया है।

क्या कहना है इंटरफैक्स का

रूस को कोरोनोवायरस मामलों में वृद्धि का सामना करना पड़ रहा है, जिसके लिए अधिकारियों ने डेल्टा संस्करण और टीकाकरण की धीमी दर को दोषी ठहराया है। गुरुवार को रूस ने पिछले 24 घंटों में 24,471 नए सीओवीआईडी -19 मामले और 796 कोरोनावायरस से संबंधित मौतों की सूचना दी।

रूस में पाए गए गामा संक्रमण पर इंटरफैक्स ने संस्थान का हवाला देते हुए कहा 'डेल्टा संस्करण रूसी संघ के क्षेत्र में व्यापक है, गामा संस्करण के अलग-अलग मामलों का पता चला है,' संस्थान ने कहा कि डेल्टा और गामा वेरिएंट को 'चिंता पैदा करने वाले' के रूप में वर्गीकृत किया गया था क्योंकि वे अधिक आसानी से फैलते हैं और एंटीबॉडी की प्रभावशीलता को कम कर सकते हैं।