इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान में सरकार द्वारा पेश किए गए मिनी बजट में एक नया प्रावधान जोड़े जाने पर हंगामा मच गया है। इसके तहत कर अधिकारियों को टैक्स चोरी करने वाले लोगों की अघोषित विदेशी संपत्ति के निपटारे की छूट मिल जाएगी। सरकार ने यह प्रावधान ऐसे वक्त पर किया है जब प्रधानमंत्री इमरान खान की बहन अलीमा खानम विदेश में मौजूद अपनी अघोषित संपत्ति को लेकर विवादों में हैं। इसको लेकर वह जांच के दायरे में हैं। उनके पास संयुक्त अरब अमीरात और अमेरिका में अघोषित संपत्ति होने का दावा किया गया है।

डॉन अखबार के अनुसार, पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर द्वारा बुधवार को नए बजट उपायों की घोषणा किए जाने के बाद इमरान सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई। विपक्षी नेताओं ने आयकर अध्यादेश, 2001 में संशोधन किए जाने का विरोध किया है। उमर द्वारा कर राहत देने के लिए घोषित किए गए इन कदमों को सोशल मीडिया पर 'अलीमा टैक्स' बताया जा रहा है। विपक्ष ने आरोप लगाया है कि सरकार अलीमा को मदद पहुंचाने के इरादे से ही लोगों को टैक्स का भुगतान कर विदेशी संपत्ति के निपटारे की इजाजत देने की तैयारी में है।

अलीमा पर सवाल से भड़के वित्त मंत्री

कर राहत की आड़ में अलीमा की मदद करने के आरोपों से इमरान सरकार दबाव में आ गई है। यह दबाव सरकार पर उस समय साफ दिखा जब गुरुवार को अलीमा की अघोषित संपत्ति के बारे में पूछे जाने पर वित्त मंत्री उमर भड़क गए। एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान उन्होंने गुस्से में कहा, 'अलीमा ने टैक्स जमा कर मामले को पहले ही निपटा दिया है। इसका उनसे कोई संबंध नहीं है। ये सिर्फ आरोप हैं।'

'अलीमा को बचाने के लिए लाई गई योजना'

मिनी बजट पर पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज ने सख्त बयान जारी कर कहा कि यह सब कुछ अलीमा को बचाने के लिए किया गया है। पार्टी की प्रवक्ता मरयम औरंगजेब ने कहा, 'अलीमा कर चोर है। अघोषित विदेशी संपत्ति को वैध करने के लिए यह योजना लाई गई है।'

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस