इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान में आम जनता क्या पत्रकार भी सेफ नहीं हैं। भारत में मानवाधिकारों का उल्लंघन हो रहा है, ऐसा कहने वाले पाकिस्तान को खुद की गिरेबान में झांक कर देखना होगा कि वहां कितने लोग खुलकर जी रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआइ ने एक वीडियो शेयर की है, जिसमें पत्रकार पाकिस्तान के सुरक्षा बलों के खिलाफ मोर्चा खोले हुए हैं। यह वीडियो गुलाम कश्मीर (POK) का है, जिसमें बताया गया है कि बीते मंगलवार को पीओके में कई पत्रकारों पर सुरक्षाबलों ने हमला किया था।

पाकिस्तानी सिक्योरिटी फोर्सेज के खिलाफ आज यानी बुधवार को पत्रकारों ने मुजफ्फराबाद प्रेस क्लब को घेर लिया। प्रेस क्लब के बाहर जुटे पत्रकार पाकिस्तानी सुरक्षा बलों का विरोध कर रहे हैं। 

जिस दौरान मंगलवार को पत्रकारों पर हमला किया गया, इससे पहले आम लोगों पर भी पाकिस्तानी सुरक्षाबलों का कहर बरपा था। बता दें कि गुलाम कश्‍मीर के मुजफ्फराबाद में मंगलवार को पाकिस्‍तान सरकार से आजादी की मांग कर रहे राजनीतिक दलों की रैली में पुलिस के लाठीचार्ज में दो लोगों की मौत हो गई थी और कई घायल हो गए थे। पुलिस की बर्बरता का वीडियो भी सामने आया था। जानकारी के मुताबिक, यह रैली ऑल इंडिपेंडेंट पार्टीज अलायंस (AIPA)के तहत विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा आयोजित की गई थी।

बता दें कि POK में जोर-जबरदस्ती से लोगों की जुबान पर लगाम लगाने का काम कर रही है पाकिस्तानी सेना। जानकारी दे दें कि हाल ही में पीओके में भूकंप आया था, इसमें काफी लोग मारे गए थे। वहीं, इससे वहां काफी नुकसान हुआ था, लेकिन अब तक भी वहां पुनर्निर्माण नहीं किया गया है। वहां, लोग अब भी शिक्षा-स्‍वास्‍थ्‍य बुनियादी सुविधाओं से दूर हैं।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप