कराची, प्रेट्र। पाकिस्तान में एक ऑटो रिक्शा चालक के खाते से 300 करोड़ रुपये के लेनदेन का मामला सामने आया है। पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी एफआइए ने उसे समन भेजकर अपना पक्ष रखने को कहा है। चालक का नाम मुहम्मद रशीद है और वह कराची का रहने वाला है। उसे अपने खाते से भारी-भरकम लेनदेन का पता उस समय चला, जब जांच एजेंसी ने उसे समन भेजा।

पाक की संघीय जांच एजेंसी एफआइए ने शुरू की जांच

रशीद ने कहा, 'मुझे संघीय जांच एजेंसी के ऑफिस से फोन आया था और उन्होंने मुझे पूछताछ के लिए आने को कहा था। पहले तो मैं बहुत डर गया था, क्योंकि मैं नहीं जानता था कि क्या हुआ है। हालांकि जब मैं एफआइए के आफिस गया तो उन्होंने मुझे बैंक खाते का रिकॉर्ड दिखाया।

रशीद ने बताया कि अधिकारियों ने मुझसे कहा कि मेरे वेतन वाले खाते से लगभग 300 करोड़ रुपये का लेनदन हुआ है। यह खाता 2005 में उस समय खुलवाया था, जब मैं एक प्राइवेट कंपनी में बतौर चालक काम करता था। हालांकि अपना काम शुरू करने के कुछ महीने बाद ही नौकरी छोड़ दी थी। जब उससे कंपनी के मालिक का नाम पूछा गया तो वह नहीं बता सका।

उसने कहा कि 300 करोड़ रुपये उसके लिए एक सपने जैसा है। आज तक उसने कभी एक लाख रुपये भी नहीं देखे हैं। वह एक किराए के घर में रहता है और किसी तरह गुजर-बसर करता है। मुझे अंदेशा है कि मेरे वेतन खाते का कुछ दूसरे लोगों ने इस्तेमाल किया है। उसका कहना है कि उसने एफआइए के अधिकारियों को अपनी वित्तीय हालत से अगवत करा दिया और वे इसे मानने पर राजी हो गए हैं।

इससे पहले भी हो चुकी है ऐसी घटना

कुछ दिन पहले ही कराची के एक फल बेचने वाले के खाते में 200 करोड़ रुपये से अधिक मिले थे। सुप्रीम कोर्ट द्वारा मनी लांड्रिंग से जुड़े मामलों के संबंध में बनाई गई संयुक्त जांच समिति के एफआइए इस तरह के मामलों की जांच कर रही है। 

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस