लाहौर, प्रेट्र। लाहौर हाईकोर्ट ने 2008 के मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात उद दावा के सरगना हाफिज सईद की नजरबंदी को खत्म करने का आदेश दिया है। जल्द ही हाफिज सईद रिहा हो जाएगा और उसके कहीं भी आने-जाने से प्रतिबंध हट जाएगा।

प्रतिबंधित जमात उद दावा के सरगना हाफिज सईद के सिर पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर (करीब 65 करोड़ रुपये) का ईनाम रख रखा है। हाफिज सईद इसी साल जनवरी से नजरबंद है।

पाकिस्तान के पंजाब सरकार की नजरबंदी और तीन महीने बढ़ाने की याचिका को बुधवार को पंजाब के न्यायिक समीक्षा बोर्ड ने खारिज कर दिया। लाहौर हाईकोर्ट के जजों वाले बोर्ड ने कुछ ही दिनों में 30 दिनों की नजरबंदी पूरी होने पर हाफिज सईद को रिहा करने का आदेश दिया है। बोर्ड की अध्यक्षता कर रहे जस्टिस अब्दुल समी खान ने कहा कि हाफिज सईद अगर किसी अन्य मामले में वांछित नहीं है तो सरकार को उसे रिहा करने का आदेश दिया गया है। अगर पंजाब सरकार ने जल्द ही उसे किसी अन्य मामले में बंदी नहीं बनाया तो वह कुछ ही दिनों में पाकिस्तान में आजाद घूमेगा। पाकिस्तानी न्यायिक बोर्ड के फैसले से पहले केंद्रीय वित्त मंत्रालय के अधिकारी ने सईद की नजरबंदी को सही साबित करने के लिए कुछ अहम सुबूत भी पेश किए। लेकिन बोर्ड इन दलीलों से संतुष्ट नहीं हुआ

गौरतलब है कि भारत ने बार-बार पाकिस्तान को मुंबई आतंकी हमले की फिर से जांच करने को कहा है। साथ ही हाफिज सईद और लश्कर ए तैयबा के कमांडर जाकिर रहमान लखवी की भारत के दिए सुबूतों के आधार पर कोर्ट में सुनवाई कराने की मांग की है।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय होगा नाराज

अंतरराष्ट्रीय समुदाय की नाराजगी की बात कहते हुए पाक की पंजाब सरकार ने मंगलवार को हाफिज की नजरबंदी को और तीन महीने जारी रखने की न्यायिक समीक्षा बोर्ड से इजाजत मांगी थी। सईद के खिलाफ अहम सुबूत पंजाब के गृह मंत्रालय ने कहा है कि अगर हाफिज सईद को अभी रिहा किया तो पाकिस्तान पर कई तरह के अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध लग जाएंगे। मंत्रालय ने बताया कि हाफिज सईद को खुफिया जांच के बाद जो रिपोर्ट तैयार की गई थी उसी के आधार पर गिरफ्तार किया गया था। मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि हमारे पास हाफिज सईद के खिलाफ कुछ महत्वपूर्ण सुबूत हैं जो उसकी नजरबंदी को जायज ठहराते हैं।

कोर्ट में सईद के पक्ष में नारेबाजी

मंगलवार को सईद को कड़ी सुरक्षा के बीच न्यायिक बोर्ड के समक्ष पेश किया गया। इस दौरान बड़ी संख्या में हाफिज के समर्थक भी कोर्ट परिसर में मौजूद रहे। समर्थक हाफिज के पक्ष में नारेबाजी करते हुए उसे तुरंत रिहा करने की मांग कर रहे थे। पिछले महीने न्यायिक बोर्ड ने हाफिज की नजरबंदी को 30 दिनों के लिए बढ़ा दिया था।

यह भी पढ़ेंः अमेरिका की आतंकी सूची में सईद का नाम नहीं: पाकिस्तान

यह भी पढ़ेंः चुनाव जीतने के लिए हाफिज सईद से भी हाथ मिला सकती है कांग्रेस : नितिन पटेल

Posted By: Gunateet Ojha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस