इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में हाल के दिनों में पाकिस्तानी सेना ने 28 कार्रवाई कीं जिनमें 30 लोग लापता हो गए। लापता लोगों में से 25 के शव बरामद हो गए हैं जबकि पांच का अभी पता नहीं है। बलोच नेशनल मूवमेंट के प्रचार मंत्री दिल मुराद बलोच ने यह जानकारी दी है।

मारक दस्ता मौतों के लिए जिम्मेदार 

अक्टूबर में पाकिस्तानी सुरक्षा बलों के उत्पीड़न की कार्रवाइयों का लेखा-जोखा पेश करते हुए दिल मुराद ने कहा है कि सरकार समर्थित मारक दस्ता इनमें से कई मौतों के लिए जिम्मेदार है। इस दस्ते को पाकिस्तानी सेना का समर्थन प्राप्त है। इसी की सूचना पर सेना इलाके में कार्रवाई करती है। कार्रवाई में यह दस्ता भी साथ होता है। हाल में हुई कार्रवाई के दौरान आमजनों के सौ से ज्यादा घर लूट लिए गए। प्रचार मंत्री ने कहा है कि बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना का अत्याचार दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से बलूचिस्तान मामले में हस्तक्षेप की मांग की है।

बलूच लड़कियों का शोषण 

प्रचार मंत्री ने बताया है कि बलूचिस्तान विश्वविद्यालय भी उत्पीड़न से अछूता नहीं है। वहां पर लगे खुफिया कैमरों से लड़कियों के फोटो और वीडियो बना लिए जाते हैं, बाद में शोषण के लिए उनका इस्तेमाल होता है। यह सब सरकार की निगाह में होता है। इस सबका उद्देश्य बलोच लोगों को सिर न उठाने देना है। बलोच नेशनल मूवमेंट के चेयरमैन खलील बलोच ने कहा है कि इस तरह मामलों से वह चिंतित हैं। यह बलोचों की पहचान, सम्मान और आत्मा को घायल करने वाला कृत्य है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप