इस्‍लामाबाद, एजेंसी । पाकिस्‍तान में एक बार फ‍िर अफवाहों को बाजार गरम है। पाकिस्‍तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता आएशा फारूकी ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में कहा है‍ कि अगले कुछ दिनों में भारतीय सेना पाकिस्‍तान पर बड़ी कार्रवाई कर सकती है। हालांकि, प्रवक्‍ता ने इस कार्रवाई का कोई ठोस कारण नहीं बताया है। पाकिस्‍तान विदेश मंत्रालय ने यह बयान ऐसे समय दिया है, जब तुर्की के राष्‍ट्रपति पाकिस्‍तान की यात्रा पर हैं और उधर 24 फरवरी से अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भारत की यात्रा पर आने वाले हैं। ऐसे में पाकिस्‍तान विदेश मंत्रालय का यह बयान चौंकाने वाला और गैर जिम्‍मेदाराना लगता है।

पाक प्रवक्‍ता की धमकी, हमले का देंगे जवाब  

पाक प्रवक्‍ता ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा है कि तुर्की के राष्‍ट्रपति रिसेप तैयप एर्दोगान पाकिस्‍तान के दौर पर हैं। इस दौरान भारत यह कदम उठा सकता है। ऐसा कहकर पाकिस्‍तान ने अपने देश में भारत के खिलाफ एक माहोल खड़ा कर रहा है। पाकिस्‍तान प्रवक्‍ता ने धमकी दी है कि अगर भारत सरकार ने इस तरह की कार्रवाई की तो पाकिस्‍तान इसका माकूल जवाब देगा। पाक प्रवक्‍ता ने कहा कि तुर्की कश्‍मीर के मुद्दे पर पाकिस्‍तान के स्‍टैंड का समर्थन करता रहा है। यह बात भारत को अखरती है।

भारत और अमेरिकी सैन्‍य डील का विरोध

पाक प्रवक्‍ता ने भारत और अमेरिकी उस सैन्‍य डील का विरोध किया है, जिसके तहत उसे एयर डिफेंस सिस्‍टम दिए जाने की मंजूदी दी है। पाक प्रवक्‍ता ने कहा है कि इससे दक्षिण एशिया में एक बार फ‍िर से हथियारों की होड़ शुरू हो सकती है। पाक प्रवक्‍ता ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप भारत को 18 अरब डॉलर में एयर डिफेंस सिस्‍टम बेचने की मंजूरी दी है।

रूस से एस-400 मिसाइल सिस्‍टम का सौदा

इसके पूर्व रूस के साथ ही भारत ने एस-400 मिसाइल सिस्‍टम का सौदा किया था। इस पर अमेरिका ने अपनी अापत्ति जताई थी, लेकिन भारत अपने फैसले पर अडिग रहा। यह मिसाइल सिस्टम 380 किलोमीटर की रेंज में जेट्स, जासूसी प्लेन, मिसाइल और ड्रोन्स की निशानदेही कर सकता है और उसे नष्ट कर सकता है। 40 हजार कोरड़ रुपए का ये सौदा दुनिया की सबसे बड़ा रक्षा सौदा है।

24 फरवरी को भारत दौरे पर आ रहे हैं ट्रंप

गौरतलब है कि राष्ट्रपति ट्रंप 24 फरवरी को भारत दौरे पर आ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके अच्‍छे रिश्‍ते पाकिस्तान के लिए परेशानी का सबब बन रहा है। ट्रंप प्रशासन ने आतंकवाद के मुद्दे पर जिस तरह से पाकिस्तान पर नकेल कसा है, उससे उसकी यह चिंता जायज भी है।। बता दें कि कंगाली के डर से फाइनान्सियल एक्शन टास्टक फोर्स (FATF) की शर्तें पूरी करने के लिए पाकिस्तान प्रयास भी कर रहा है। हाल में पाकिस्तान में आतंकवाद रोधी अदालत ने हाफिज मोहम्मद सईद को पांच साल की सजा सुनाई है। सईद मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है। अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान को और कार्रवाई करने की जरूरत है।    

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस