इस्‍लामाबाद, पीटीआइ। चीन में कहर बरपा रहे कोरोना वायरस के खतरे के बीच पाकिस्‍तान ने अपने दो अधिकारियों को वुहान में तैनात करने का फैसला किया है। पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को बताया कि सरकार ने बीजिंग स्थित अपने दूतावास के दो अधिकारियों को वुहान में तैनात करने का फैसला किया है ताकि वे वहां विभिन्‍न विश्‍वविद्यालयों में पढ़ रहे पाकिस्‍तानी छात्रों से मुलाकात कर सकें। मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि चीन ने पाकिस्‍तानी हुकूमत की गुजारिश को स्‍वीकार करते हुए इस कदम को मंजूरी दे दी है।

पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर बताया कि चीन ने पाकिस्‍तानी दूतावास के दो अधिकारियों की टास्‍क फोर्स को वुहान भेजने की गुजारिश को मंजूरी दे दी है। वुहान में नाकाबंदी खत्‍म होने और हालात सामान्‍य होने के साथ ही ये अधिकारी बीजिंग लौट आएंगे। पाकिस्‍तानी हुकूमत के आंकड़ों के मुताबिक, चीन में लगभग 28,000 पाकिस्‍तानी छात्र विभिन्‍न संस्‍थानों में पढ़ रहे हैं। कोरोना वायरस के केंद्र मानें जा रहे अकेले वुहान में ही लगभग 500 पाकिस्‍तानी छात्र फंसे हुए हैं।

माना जाता है कि वुहान शहर से ही कोरोना वायरस दुनिया के मुख्‍तलिफ मुल्‍कों में फैला। वहीं चीन में घातक कोरोना वायरस से 98 और लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 1,868 हो गई है। चीन में अभी तक वायरस से संक्रमित कुल 72,436 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के मुताबिक, जिन 98 लोगों की संक्रमण के चलते मौत हुई है उनमें से 93 अकेले हुबेई से हैं। हुबेई में 1,807 नए मामले सामने आए हैं। इस आंकड़े के साथ ही हुबेई प्रांत में संक्रमित लोगों की संख्या 59,989 हो गई है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस