इस्‍लामाबाद, पीटीआइ। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बलूचिस्‍तान प्रांत में स्थित ग्‍वादर शहर में शनिवार को फाइव स्‍टार होटल पर्ल कॉन्टिनेंटल पर हुए आतंकी हमले की निंदा की है। इमरान खान ने कहा कि ये आतंकी हमला इस पोर्ट शहर में इकोनॉमिक प्रोजेक्‍ट्स और समृद्धि को नुकसान पहुंचाने का प्रयास है। बता दें कि शनिवार को तीन बंदूकधारी होटल में घुसे और गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान होटल के सुरक्षागार्ड की मौत हो गई। हालांकि, सुरक्षाबलों ने इन आतंकियों को ढेर कर दिया, लेकिन इस हमले के बाद आम लोगों में दहशत है।

प्रधानमंत्री इमरान खान ने हमले की निंदा करते हुए कहा, 'बलूचिस्‍तान में इस तरह के आतंकी हमले इकोनॉमिक प्रोजेक्‍ट्स को नुकसान पहुंचाने और क्षेत्र की समद्धि को नुकसान पहुंचाने का नाकाम प्रयास है। सरकार ऐसी किसी साजिश को कामयाब नहीं होने देगी।' साथ ही इमरान ने सुरक्षाबलों की तारीफ की, जिन्‍होंने तुरंत कार्रवाई करते हुए तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया। इससे होटल में मौजूद काफी लोगों की जान बच गई।

बता दें कि ग्‍वादर पोर्ट में 50 बिलियन डॉलर की लागत का चीन-पाकिस्‍तान इकोनॉमिक कॉरिडोर बन रहा है। यहां चीन के साथ-साथ कई और देशों के भी लोग काम करने में जुटे हुए हैं। ऐसे में आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्‍तान के लिए ग्‍वादर पोर्ट काफी मायने रखता है। वैसे, बता दें कि बलूचिस्‍तान के लोग इस इकोनॉमिक कॉरिडोर का विरोध कर रहे हैं।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के अशांत बलूचिस्तान प्रांत में स्थित ग्वादर शहर में शनिवार शाम तीन हथियारबंद आतंकियों ने पंचतारा होटल पर्ल कॉन्टिनेंटल पर हमला कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते और सेना ने होटल को घेर लिया और जवाबी कार्रवाई में तीनों आतंकियों को ढेर कर दिया। होटल का एक सुरक्षाकर्मी आतंकियों का शिकार हुआ। वन बेल्ट-वन रोड (ओबीओआर) प्रोजेक्ट के तहत चीन ग्वादर में बंदरगाह विकसित कर रहा है। ग्वादर के पुलिस थाना प्रभारी असलम बनगुलजई के अनुसार तीन हथियारबंद लोगों के होटल में घुसने की सूचना मिलते ही कार्रवाई की गई। ये हथियारबंद होटल के मुख्य द्वार पर तैनात सुरक्षाकर्मी को गोली मारकर भीतर घुसे। प्राथमिकता के तौर पर होटल में ठहरे विदेशी और स्थानीय मेहमानों को सुरक्षित निकाला गया, इसके बाद कार्रवाई तेज की गई।

कोहे बातिल पहाड़ी पर स्थित इस पंचतारा होटल में ज्यादातर कारोबारी और जलमार्ग से यात्रा करने वाले लोग ठहरते हैं। इसके अतिरिक्त बंदरगाह विकसित करने के कार्य में जुड़े चीन और पाकिस्तान के उच्च अधिकारी भी होटल में ठहरते हैं। होटल में घुसे हथियारबंद लोग आतंकी थे, लेकिन बलूचिस्तान के मुख्यमंत्री जाम कमाल खान अत्यानी ने इसे आतंकी हमला बताते हुए उसकी निंदा की है। पता चला है कि हमलावर नौका पर सवार होकर ग्वादर पहुंचे और उसके बाद उन्होंने होटल की ओर रुख किया।

अशांत बलूचिस्तान में पहले भी हमले होते रहे हैं। 18 अप्रैल को अज्ञात बंदूकधारियों ने एक बस पर हमला कर 14 लोगों को मार डाला था। मरने वालों में कई पाकिस्तानी नौसेना के जवान थे, जो ड्यूटी पूरी कर आ रहे थे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप