इस्‍लामाबाद, आइएएनएस। पाकिस्तान के वरिष्ठ प्रांतीय मंत्री मीर हजार खान बिजरानी ने पहले अपनी पत्‍नी फारिहा रज्‍जाक को तीन गोलियां मारी और फिर उसी रिवॉल्वर को अपनी कनपटी पर रखा और फायर कर दिया। मंत्री और उनकी पत्‍नी की मौके पर ही मौत हो गई। बिजरानी और उनकी पत्नी कराची स्थित अत्यधिक सुरक्षा वाले अपने आवास में मृत पाए गए। सिंध प्रांत के योजना एवं विकास मंत्री बिजरानी (71) और उनकी पत्नी फारिहा रज्जाक के शव गुरुवार को उनके बेडरूम में मिले। फारिहा पेशे से पत्रकार थीं। पुलिस ने यह आशंका जताई है कि ये खुदकुशी का मामला है, क्‍योंकि दोनों को बेहद करीब से गोली मारी गई है।

पुलिस के मुताबिक, मंत्री और उनकी पत्‍नी को बेहद करीब से गोली लगी है। साउथ जोन कराची के डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल पुलिस (डीआइजी) ने इस मामले में एक बयान जारी करते हुए बताया कि शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ऐसा मालूम पड़ता है कि बिजरानी ने पहले अपनी पत्नी को मारा और उसके बाद उन्होंने खुदकुशी कर ली। साथ ही बयान में यह भी कहा गया है कि आपराधिक दृश्य या परिस्थितिजन्य साक्ष्य और शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ऐसा लगता है कि बिजरानी ने अपनी पत्नी को गोली मारी और उसके बाद उसी रिवॉल्‍वर से खुद को खत्‍म कर लिया।

डीआइजी ने बताया कि वारदात की जगह और शव को देखने के बाद यह साफ जाहिर होत है कि ये मौत गोली लगने से हुए है। उन्होंने आगे कहा कि बिजरानी को एक गोली सर में लगी है, जबकि उनकी पत्नी को तीन गोलियां एक सर में और दो पेट में लगी हैं। हालांकि पुलिस ने अभी सिर्फ ऐसी संभावना जताई है। पुख्‍ता तौर पर कुछ नहीं कहा है। पुलिस जांच चल रही है। लेकिन मंत्री बिजरानी ने यह कदम क्‍यों उठाया? क्‍या उन्‍हें किसी बात का डर सता रहा था? क्‍या उनकी पत्‍नी और उनके बीच कुछ अनबन चल रही थी? ऐसे सवाल है, जिनके जवाब मिलने अभी बाकी हैं।

बता दें कि बिजरानी प्रांत के साथ केंद्र सरकार में भी मंत्री रहे थे। वह 1990 से 1993 और 1997 से 2013 तक पाकिस्तानी संसद के निचले सदन नेशनल असेंबली के सदस्य रहे। 2013 में वह सिंध विधानसभा के सदस्य चुने गए। बिजरानी सिंध प्रांत के शिक्षा मंत्री का पदभार भी संभाल चुके थे। शुक्रवार को बिजरानी और उनकी पत्‍नी का अंतिम संस्‍कार कर दिया।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप