इस्लामाबाद,पीटीआइ। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी श्रीलंका की दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर रहेंगे। इस दौरान वह दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा करेंगे। राष्ट्रपति गोतबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे से मुलाकात करेंगे। 

कुरैशी रविवार को कोलंबो पहुंच चुके हैं। वहीं, वह राष्ट्रपति राजपक्षे से मुलाकात के दौरान उन्हें आधिकारिक तौर पर पाकिस्तान आने का निमंत्रण भी देंगे। कुरैशी सोमवार को श्रीलंकाई समकक्ष दिनेश गुनावारदेना से भी मुलाकात करेंगे।

राष्ट्रपति राजपक्षे की हालिया भारत यात्रा के तुरंत बाद कुरैशी यह दौरा है। राजपक्षे ने उस दौरान भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि पाकिस्तान किसी भी मामले में भारत से पिछड़ना नही चाहता है। गोतबाया ने हाल ही में चुनाव में जीत दर्ज की है। 

बता दें कि सरकार की तरफ से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। इसके विरोध करने के लिए पाकिस्तान ने यूएन तक अपनी बात रखी थी। ज्यादातर देशों ने पाकिस्तान और भारत का यह आंतरिक मामला बताया था। इसके बाद भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के कार्यक्रम में कश्मीर के मामले को उठाया

पाकिस्तान सभी मंचों पर अलग-थलग हो गया। जब किसी से भी मदद नहीं मिली तो पाकिस्तान की तरफ से जम्मू-कश्मीर में अफवाहें फैलाए जाने का काम होने लगा। इसके बाद एक बार फिर से पाकिस्तान की तरफ से अच्छी पहल का संकेत मिलता हुआ दिखाई दिया। पिछले दिनों पाकिस्तान की तरफ से करतापूर कॉरिडोर को बिना वीजा के लिए शुरू किया गया। 

Posted By: Pooja Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप