इस्लामाबाद, पीटीआइ। पाकिस्तान की सेना ने रविवार को निवर्तमान सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के कार्यकाल के दौरान उनके रिश्तेदारों के अरबपति बनने की बात खारिज कर दी। मालूम हो कि पाकिस्तानी मीडिया में ऐसी रिपोर्ट्स आई थी कि जनरल कमर जावेद बाजवा के छह साल के कार्यकाल के दौरान उनके परिवार के सदस्य और रिश्तेदारों ने अवैध धन जुटाए हैं और वे लोग अरबपति बन गए हैं। पाकिस्तानी सेना ने इसे भ्रामक, झूठ और द्वेष के आधार पर कही गई बात करार दिया। बता दें कि जनरल बाजवा सेना प्रमुख के पद से 29 नवंबर से सेवानिवृत हो रहे हैं।

बाजवा  के परिवार की संपत्ति 12.7 बिलियन

फैक्टफोकस (FactFocus) वेबसाइट द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के अंदर और बाहर सेना प्रमुख जनरल बाजवा के परिवार की ज्ञात संपत्ति और व्यवसाय का वर्तमान बाजार मूल्य 12.7 बिलियन रुपये है। शहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा जांच शुरू करने और जनरल बाजवा एवं उनके परिवार के सदस्यों के कर रिकार्ड को लीक करने में उनकी संलिप्तता के लिए दो अधिकारियों को सेवा से निलंबित करने के कुछ दिनों बाद पाकिस्तानी सेना ने रविवार को अपनी चुप्पी तोड़ी।

सेना ने रिपोर्ट्स को किया खारिज

पाकिस्तानी सेना की मीडिया विंग इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस ने कहा कि सेना प्रमुख जनरल बाजवा और उनके परिवार की संपत्ति के बारे में भ्रामक डेटा सोशल मीडिया पर शेयर किया गया था। सेना ने बताया कि इसे द्वेष की भावना से सार्वजनिक की गई थी। सेना ने कहा, 'यह पूरी तरह से झूठ है और भ्रामक एवं द्वेष पर आधारित है।' उन्होंने कहा कि जनरल बाजवा, उनकी पत्नी और उनके परिवार के बाकी लोगों की संपत्ति का ब्योरा संघीय राजस्व बोर्ड के पास मौजूद है। सेना ने बयान में कहा कि इसके पीछे गलत धारणा बताई जा रही है कि ये संपत्तियां जनरल बाजवा के बेटे के ससुर ने उनके छह साल के कार्यकाल के दौरान अर्जित की है।

ये भी पढ़ें: Fact Check: कलमा पढ़ रहे इन लोगों का वीडियो फीफा वर्ल्ड कप 2022 का नहीं है

ये भी पढ़ें: खास बातचीतः फियो डीजी अजय सहाय के अनुसार भारत अपनी शिपिंग लाइन खड़ी करे तो हर साल 25 अरब डॉलर रेमिटेंस बचेगा

Edited By: Devshanker Chovdhary

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट