इस्‍लामबाद, एजेंसी । पाकिस्‍तान में बेलगाम महंगाई के लिए इमरान खान के एक मंत्री ने कहा कि इसके लिए पड़ोसी मुल्‍क जिम्‍मेदार है। पाकिस्‍तान के आर्थिक मामलों के मंत्री हमाद अजहर ने देश में खाद्य पदार्थों की बढ़ती कीमतों के लिए भारत के साथ व्यापार रद होने को प्रमुख कारण बताया है। बता दें कि पाकिस्तान में टमाटर के दाम 400 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गए हैं। इसके साथ तंगी में चल रहे पाकिस्‍तान में महंगाई चरम पर है।

यहां के डॉन अखबार के मुताबिक अजहर ने खाद्य पदार्धों के दाम बढ़ने का ठीकरा भारत पर फोड़ दिया। उन्होंने कहा कि आसमान छूती कीमतें खास तौर से खाद्य वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि भारत के साथ व्यापार रद होने से हुई है। पाकिस्‍तान में आर्थिक मामलों के मंत्री हमाद अजहर ने मीडिया के सामने यह बयान दिया। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था इस वक्त विदेशी कर्ज के बोझ से दबी है और महंगाई भी लोगों को परेशान कर रही है। 

महंगाई के लिए बिचौलियों भी जिम्मेदार 

पाकिस्‍तान में महंगाई बढ़ने के लिए इमरान के मंत्री मौसमी कारणों और बिचौलियों को भी जिम्मेदार ठहराया है। मंत्री ने कहा कि केंद्र सस्ता बाजार लगाने के लिए प्रांतीय सरकार के साथ इस मामले पर विचार कर रहा है। महंगाई से बेहाल देशवासियों को भरोसा दिलाया कि कि जनवरी-फरवरी से महंगाई कम होना शुरू होगी। 

महंगाई से आम पाकिस्‍तानी परेशान 

खास बात यह है कि यह पाक मंत्री की यह टिप्पणी तब आई हैं, जब टमाटर के दाम 400 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गए हैं। इससे आम पाकिस्‍तानी परेशान हैं। पांच अगस्त को भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा हटाए जाने के बाद उसके साथ कूटनीतिक संबंध काफी तल्‍ख हैं। दोनों देशों के बीच व्यापार निलंबित कर दिया गया है।अक्टूबर में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान में अगले 12 महीनों में महंगाई दर 13 फीसद रहने का अनुमान है। वित्त वर्ष 2019 के लिए यह अनुमान 7.3 फीसद है, जबकि 2018 में महंगाई 3.9 फीसद थी।  

Posted By: Ramesh Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस