इस्लामाबाद, आइएएनएस। पाकिस्तान में हिंदू छात्रा नम्रता  चांदनी की मौत से जुड़ा एक सनसनीखेज खुलासा हुआ हुआ है। पाकिस्तान में मेडिकल कर रही हिंदू छात्रा की पिछले महीने उसके हॉस्टल के एक कमरे में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इस मामले में आई एक ताजा रिपोर्ट से हिंदू छात्रा की मौत के रहस्य से पर्दा उठ गया है। इस मामले से संबंधित एक रिपोर्ट में बताया गया है कि निम्रिता की ऑक्सीजन की कमी के कारण दम घुटने से मौत हो गई थी। उसकी मौत के पीछे ऑक्सीजन की कमी कारण बताई जा रही है।

दम घुटने से हुई मौत

जियो न्यूज ने बताया कि हिस्टोपैथोलॉजिकल जांच रिपोर्ट, जो 26 सितंबर को जम्होरो में लियाकत यूनिवर्सिटी ऑफ मेडिकल एंड हेल्थ साइंसेज द्वारा संकलित की गई थी, वहां यह संकेत दिया गया कि नम्रता कुमारी की मौत ऑक्सीजन की कमी से हुई थी। मेडिकल रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि मेडिकल छात्रा की अप्राकृतिक कारणों से मौत नहीं हुई या उसके जहर खाने से उसके शरीर के अंगों में बदलाव दिखा।

दूसरी ओर, पुलिस ने कहा कि रिपोर्ट में नम्रता कुमारी की मौत के कारणों को नहीं बताया गया है और कहा गया है कि सबूतों से पता चलता है कि उसने आत्महत्या की है। हालांकि उन्होंने कहा कि इस बात का कोई सबूत नहीं था कि उनकी हत्या की गई थी।

नम्रता की मौत बनी पहेली

नम्रता का शव पिछले महीने 16 सितंबर को लरकाना के शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी (SMBBMU) में उनके हॉस्टल के कमरे में छत के पंखे से लटका मिला था। वह विश्वविद्यालय में बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी की पढ़ाई कर रही थी और अंतिम वर्ष की छात्रा थी।

उसके परिवार के सदस्यों, साथ ही हिंदू समुदाय के नेताओं का कहना है कि उसे मारा गया है। उन्होंने मौत की जांच के लिए एक संयुक्त जांच दल (JIT) का गठन करने की मांग की थी। पुलिस ने यह भी दावा किया था कि नम्रता के बेडरूम से नींद की गोलियां बरामद हुई थीं और यह कि मृतक ने उनकी चिंता के दौरान उनका इस्तेमाल किया था। अधिकारियों ने कहा था कि वे अभी भी कथित आत्महत्या या हत्या के सही कारणों की पहचान करने के लिए काम कर रहे थे।

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप