इस्लामाबाद, एजेंसी। नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (CAA) द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार, पाकिस्तान की सरकार (Pakistan government) ने वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (FATF) की शर्त को पूरा करने और मनी लांड्रिंग (Money Laundering) को रोकने के लिए सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों द्वारा मुद्रा की घोषणा करना (Money Declaration) अनिवार्य कर दिया है।

अगले महीने पाकिस्तान आएगी FATF की टीम

'द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' की रिपोर्ट के अनुसार, यह अधिसूचना तब आई जब FATF की एक टीम के अगले महीने पाकिस्तान में इस्लामाबाद द्वारा मनी लांड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण को रोकने के लिए उठाए गए कदमों को सत्यापित करने के लिए 'आन-साइट' दौरे के लिए आने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि एक सफल आन-साइट यात्रा पाकिस्तान के लिए FATF ग्रे लिस्ट से बाहर होने का मार्ग प्रशस्त करेगी।

एफबीआर के निर्देश पर सीएए ने जारी की अधिसूचना

सीएए ने फेडरल बोर्ड आफ रेवेन्यू (FBR) के निर्देश पर अधिसूचना जारी की है, जिसमें कहा गया है कि अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को एक घोषणा पत्र भरना होगा और फिर इसे एयरलाइन कर्मचारियों को सौंपना होगा। इस घोषणआ पत्र में घरेलू और विदेशी मुद्रा का विवरण होगा।

बिना घोषणा पत्र जमा किए नहीं भर पाएंगे उड़ान

बयान में यह भी कहा गया है कि कोई भी अंतरराष्ट्रीय यात्री बिना घोषणा पत्र जमा किए उड़ान में चढ़ने या एयरपोर्ट से बाहर जाने में सक्षम नहीं होगा। उसे घोषणा पत्र भरना ही होगा।

चेक इन से पहले जमा करना होगा मुद्रा घोषणा फार्म

अधिसूचना में कहा गया है कि यात्रियों को उड़ान के लिए चेक-इन करने से पहले सीमा शुल्क कर्मचारियों को मुद्रा घोषणा फार्म जमा करना होगा। प्राधिकरण ने निर्देश जारी किए थे कि मुद्रा घोषणा फॉर्म एयरलाइंस के बुकिंग कार्यालयों में उपलब्ध कराए जाने चाहिए। 

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक अधिसूचना में आगे कहा गया है कि घरेलू और विदेशी एयरलाइनों, पायलटों और कर्मचारियों को सीमा शुल्क घोषणा फार्म के प्रावधानों और विवरण के बारे में सूचित किया गया है।

Edited By: Achyut Kumar