इस्लामाबाद, प्रेट्र।  पाकिस्तान (pakistan) में विपक्ष के सरकार पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बीच बुधवार को सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात की। आधिकारिक बयान में कहा गया है कि जनरल बाजवा ने सेना के कामकाज पर चर्चा के लिए प्रधानमंत्री से मुलाकात की लेकिन वास्तव में दोनों के बीच सरकार के कामकाज और देश की स्थिति पर चर्चा हुई।

ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की ताजा रिपोर्ट के बाद मुलाकात 

प्रधानमंत्री से सेना प्रमुख की यह मुलाकात ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की ताजा रिपोर्ट आने के बाद हुई है। इस रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में भ्रष्टाचार बढ़ा है। सूची में शामिल 180 देशों में पाकिस्तान भ्रष्टाचार के मामले में 140 वें स्थान पर है। इस रिपोर्ट ने विपक्ष के उस आरोप को पुष्ट किया है जिसमें अक्सर कहा जाता है कि इमरान सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार और अराजकता बढ़ी है। आर्थिक बदहाली के दौर में देश में महंगाई दिनों दिन बढ़ रही है, वहीं डालर की तुलना में पाकिस्तानी रुपया तेजी से नीचे जा रहा है।

इमरान सरकार के कंट्रोल में नहीं हैं हालात 

ऐसे में इमरान सरकार के हाथ से हालात निकलते जा रहे हैं और वह विपक्ष के आरोपों का ठोस जवाब नहीं दे पा रही है। विपक्ष दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट ने इमरान से इस्तीफे की मांग को लेकर 23 मार्च से देशव्यापी आंदोलन छेड़ने का एलान किया है।उइन हालात में सेना प्रमुख का इमरान से मिलना नई चर्चाओं को जन्म दे गया है। इस मुलाकात का नतीजा आने वाले समय में कुछ नए के रूप में दिखाई दे सकता है।

Edited By: Monika Minal