लाहौर, प्रेट्र। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ (69) को मंगलवार को लाहौर की कोट लखपत जेल ले जाया गया। मंगलवार को उनका जन्मदिन भी था। जवाबदेही न्यायालय ने एक दिन पहले भ्रष्टाचार से जुड़े अल-अजीजिया स्टील मिल मामले में उन्हें सात साल जेल की सजा सुनाई थी।

शरीफ को पहले रावलपिंडी की अदियाला जेल ले जाया गया था। लेकिन उन्होंने अपने परिजनों और डॉक्टर के लाहौर में होने का हवाला देते हुए कोर्ट से कोट लखपत जेल भेजे जाने की अपील की थी, जिसे स्वीकार कर लिया गया। जेल अधिकारियों के अनुसार, शरीफ को उसी बैरक में रखा गया है जिसमें कभी पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को भी भ्रष्टाचार के आरोपों में रखा जा चुका है। शरीफ को एक गद्दा, मेज, दो कुर्सी, टीवी और अखबार भी उपलब्ध कराया गया है।

पिछले साल पनामा पेपर्स मामले में पीएम पद गंवाने के बाद शरीफ और उनके परिवार पर भ्रष्टाचार के तीन मुकदमे दर्ज किए गए थे। लंदन में चार आलीशान फ्लैट से जुड़े आय से अधिक संपत्ति के मामले में उन्हें पहले ही 11 साल की सजा हो चुकी है। अल अजीजिया स्टील मिल में मिली सजा के बाद भी शरीफ ने खुद को निर्दोष बताया है। उनके वकीलों का कहना है कि इस फैसले को इस्लामाबाद हाई कोर्ट में चुनौती दी जाएगी।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप