इस्लामाबाद, आइएएनएस। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने देशद्रोह मामले में कोर्ट में पेश होने के लिए राष्ट्रपति स्तर की सुरक्षा मांगी है। दुबई में रह रहे मुशर्रफ ने अपनी जान को खतरा बताते हुए यह मांग की है। विशेष अदालत में सोमवार को मामले की सुनवाई के दौरान उनके वकील अख्तर शाह ने कहा, 'मुशर्रफ की जान को खतरा है। पहले भी दो बार उनकी हत्या के प्रयास हो चुके हैं।

इस्लामाबाद कोर्ट और क्वेटा में अकबर बुगती मामले की सुनवाई के दौरान उन पर हमला हुआ था। वह तभी कोर्ट में हाजिर होंगे जब रक्षा मंत्रालय उन्हें उच्च स्तरीय सुरक्षा मुहैया कराएगा।' इस पर मामले की सुनवाई कर रही दो सदस्यीय पीठ ने कहा, 'मुशर्रफ के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया गया है। इसके चलते उनकी सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है।'

नवंबर, 2007 में देश में आपातकाल लगाने के लिए पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की पिछली सरकार ने मुशर्रफ पर देशद्रोह का मुकदमा किया था। मार्च, 2014 में उनके खिलाफ आरोप तय किए गए थे। 2016 में वह इलाज के लिए दुबई चले गए थे। तब से वह वहीं हैं।

अदालत की ओर से कई बार तलब किए जाने के बावजूद वह पेश नहीं हुए। कोर्ट फिलहाल उनके बयान लिए बगैर ही इस मामले की सुनवाई आगे बढ़ाने पर विचार कर रही है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing