इस्लामाबाद, एएनआइ। पाकिस्तान में उपद्रवियों ने खैबर पख्तूनख्वा के टांक जिले में एक निर्माणाधीन लड़कियों के स्कूल भवन को उड़ा दिया। बुधवार को हुए विस्फोट में स्कूल का भवन पूरी तरह तबाह हो गया। इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ।टांक जिले के पुलिस अधिकारी ने कहा कि चार से पांच किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया। पुलिस ने अज्ञात उपद्रवियों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की है और मामले में जांच शुरू कर दी है। लड़कियों की शिक्षा के मामले में पाकिस्तान दुनिया के सबसे खराब देशों में गिना जाता है। जुलाई 2018 में सत्ता में आई नई सरकार ने कहा था कि 2.25 करोड़ बच्चे पाकिस्तान में स्कूल से वंचित हैं। लड़कियां खास तौर से ज्यादा प्रभावित हैं। पाकिस्तान में प्राथमिक विद्यालय में जाने योग्य आयुवर्ग की 32 फीसद लड़कियां स्कूल से वंचित हैं जबकि 21 फीसद लड़के स्कूल जाने से वंचित हैं। छठी कक्षा तक 59 फीसद लड़कियां और 49 फीसद लड़के स्कूल से वंचित हैं।

पाक-चीन ने आतंकवादरोधी संयुक्त अभ्यास शुरू किया

चीन और पाकिस्तान के सैनिकों ने गुरुवार को एससीओ क्षेत्रीय आतंकवाद रोधी ढांचे (आरएटीएस) के तहत संयुक्त आतंकवादरोधी अभ्यास शुरू किया।पाकिस्तानी सेना ने एक बयान में कहा कि संयुक्त आतंकवाद निरोधी अभ्यास (जेएटीई)-2021 की खैबर-पख्तूनख्वा में राष्ट्रीय आतंकवाद रोधी केंद्र (एनसीटीसी) पब्बी में हुई।इसमें कहा गया है कि जेएटीई-2021 का आयोजन कार्डन एंड सर्च, कंपाउंड क्लीयरेंस, क्लोज क्वार्टर बैटल और मेडिकल इवैक्यूएशन सहित काउंटर टेररिज्म आपरेशंस में शामिल विभिन्न अभ्यासों और प्रक्रियाओं में महारत हासिल करने के लिए किया जा रहा है।

अभ्यास का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों की विशेष सेवाओं और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के बीच तालमेल और अंतर-संचालन को बढ़ाना है। दोनों देशों के पहले चरण का अभ्यास 26 से 31 जुलाई, 2021 तक आयोजित किया गया था। जबकि दो सप्ताह की अवधि का दूसरा चरण पाक में आयोजित किया जा रहा है।बयान के अनुसार, उद्घाटन समारोह में पाकिस्तान के मेजर जनरल जावेद दोस्त चांडियो मुख्य अतिथि थे। आरएटीएस का मुख्यालय ताशकंद में है। यह एससीओ का एक स्थायी अंग है जो आतंकवाद, अलगाववाद और उग्रवाद के खिलाफ सदस्य देशों के सहयोग को बढ़ावा देने का काम करता है।

Edited By: Shashank Pandey