मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

इस्‍लामाबाद, एएनआइ। भारत के प्रति पाकिस्‍तान अपनी हरकतों पर लगाम लगाने के बजाए एक के बाद एक ओछी करतूतें करता जा रहा है। इस क्रम में गुरुवार को पाकिस्‍तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता मोहम्‍मद फैसल ने कहा कि रिटायर भारतीय नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव को दूसरी राजनयिक पहुंच नहीं दी जाएगी। इसपर विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा, ‘अंतरराष्‍ट्रीय अदालत का फैसला पूरी तरह लागू हो इसके लिए हम प्रयास करते रहेंगे। कूटनीतिक तरीके से हम पाकिस्‍तानी पक्ष से संपर्क में रहना पसंद करेंगे।’

बता दें कि भारत ने कुलभूषण जाधव मामले को अंतरराष्‍ट्रीय कोर्ट में उठाया था। कोर्ट ने पाक मिलिट्री कोर्ट द्वारा कुलभूषण जाधव को दी गई मौत की सजा पर रोक लगा दी थी। सभी विकल्‍पों को धराशायी होता देख पाकिस्‍तान ने 2 सितंबर को जाधव के लिए राजनयिक पहुंच पर मंजूरी दी थी।

भारतीय राजनयिक गौरव आहलूवालिया ने पाकिस्‍तान की जेल में कुलभूषण जाधव से मुलाकात की थी। पाकिस्‍तानी अधिकारी भी इस दौरान मौजूद थे और पूरी मीटिंग को रिकॉर्ड किया था।

उल्‍लेखनीय है कि पिछले माह जम्‍मू कश्‍मीर से विशेष दर्जा हटाने और इसके पुनर्गठन किए जाने के बाद से पाकिस्‍तान ने बौखलाहट में भारत के साथ कई संबंध तोड़ लिए हैं।

पाकिस्तानी मंत्री का कबूलनामा, इमरान सरकार ने इस आतंकी संगठन पर खर्च किए करोड़ों रुपये

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप