इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि अपराधियों की सरकार से कहीं ज्यादा अच्छा देश पर एटम बम गिर जाना रहेगा। पूर्व प्रधानमंत्री ने दावा किया कि सत्ता प्रतिष्ठान से उनके पास फोन आते रहते हैं, लेकिन उन्होंने उनके नंबर ब्लाक कर दिए हैं और आम चुनाव की घोषणा होने तक वह किसी से कोई बातचीत नहीं करेंगे।पिछले महीने इमरान को अविश्वास प्रस्ताव के माध्यम से सत्ता से बेदखल कर दिया गया था। वह पाकिस्तान के ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं, जिनकी सरकार असम्मानजनक तरीके से विदा हुई है।

इमरान खान ने आगे कहा कि सत्ता में आए चोरों ने हर संस्था और न्यायिक व्यवस्था को नष्ट कर दिया, अब पूछते हैं कि कौन सा सरकारी अधिकारी इन अपराधियों के मामलों की जांच करेगा। प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने कहा है कि इमरान खान अपने भाषणों से राज्य के संस्थानों को निशाना बनाकर पाकिस्तान के लोगों के दिमाग में 'जहर' भर रहे हैं। नई सरकार के गठन के बाद नेशनल असेंबली के पहले नियमित सत्र के दौरान शहबाज शरीफ ने कहा कि राष्ट्र को विभाजित जा रहा है क्योंकि इमरान खान द्वारा बार-बार (तत्कालीन विपक्ष और अब सरकार) चोर और डकैत कहा जाता है।

इमरान ने लोगों से देश की राजधानी तक ऐतिहासिक मार्च की तैयारी करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा है कि जब लोग सड़कों पर उतरेंगे तो कई विकल्प खुलेंगे। डान अखबार के अनुसार, इमरान ने शुक्रवार को कहा, 'सत्ता प्रतिष्ठान से संदेश आ रहे हैं, लेकिन अगले आम चुनाव की घोषणा होने तक मैं किसी से भी कोई बातचीत नहीं करूंगा।' पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के चेयरमैन ने फिर से दोहराया कि अमेरिका ने तत्कालीन विपक्ष के नेताओं के साथ मिलकर उनकी सरकार को अस्थिर करने की साजिश रची थी। इमरान खान ने शहबाज शरीफ के नेतृत्व वाली सरकार से कहा कि भले ही बाधाएं पैदा करने के लिए कितने कंटेनर रखे गए हों, 20 लाख लोग इस्‍लामाबाद आएंगे।

इमरान खान ने कहा कि हमारे विरोधी कहते हैं कि अगर तापमान ज्यादा होगा तो लोग बाहर नहीं आएंगे। जितने कंटेनर चाहिए रख लो, लेकिन 20 लाख लोग इस्लामाबाद आएंगे।' पूर्व प्रधानमंत्री ने अपने समर्थकों से कहा कि मौजूदा सरकार उनके जुनून से "डर" है और कहा कि 11 दल उन्हें सत्ता से हटाने के लिए एकत्र हुए थे।

पीटीआइ कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज

एएनआइ के अनुसार, इमरान खान सरकार को सत्ता से बेदखल करने के विरोध में सड़कों पर उतरे पीटीआइ कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और लाठी चार्ज किया। पुलिस ने शनिवार सुबह सियालकोट में रैली की तैयारी कर रहे कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की। कई कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

Edited By: Arun Kumar Singh