जिनेवा, पीटीआइ। भारत ने संयुक्‍त राष्‍ट्र में पाकिस्‍तान से दो टूक कहा है कि वह अपने इलाकों में चल रहे आतंकी कैंपों को नष्‍ट करे। यही नहीं भारत ने जम्मू कश्मीर में विकास योजनाओं को पटरी से उतारने की पाकिस्तान की साजिशों की भी निंदा की। भारत ने कहा कि पाकिस्‍तान आतंकी संगठनों की फंडिंग बंद करे और अपनी जमीन से संचालित आतंकी कैंपों को नष्ट करे। गौरतलब है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र जैसे अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत का यह बयान FATF के पेरिस में लिए गए फैसले के ठीक एक हफ्ते बाद सामने आया है।

दरअसल, जिनेवा में मानवाधिकार परिषद (Human Rights Council) की 43वीं बैठक में पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर का पुराना राग अलापते हुए मानवाधिकारों की दुहाई दी थी। इसके बाद भारत ने पाकिस्‍तान के बेबुनियाद आरोपों पर करारा पलटवार किया। भारत के स्थायी मिशन में प्रथम सचिव विमर्श आर्यन (Vimarsh Aryan) ने कहा कि पाकिस्तान सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत की छवि खराब करने के लिए बेचैन है। लेकिन हम पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को इस तरह गुमराह करने के लिए खुला नहीं छोड़ सकते हैं। 

आर्यन (Vimarsh Aryan) ने कहा कि पाकिस्तान आतंकी संगठनों को बढ़ावा देकर जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में भारत सरकार की ओर से किए जा रहे विकास की गाड़ी को पटरी से उतारने की कोशिशों में लगा है। हालांकि, पाकिस्‍तान की तमाम साजिशों के बावजूद जम्मू-कश्मीर में हालात तेजी से सामान्य हो रहे हैं। अपने संबोधन में आर्यन (Vimarsh Aryan) ने भारत की ओर से पाकिस्‍तान को 10 नसीहतों की सूची भी सुझाई। भारतीय राजनयिक आर्यन ने कहा कि पाकिस्‍तान अपनी जमीन से चल रहे आतंकी कैंपों को नष्‍ट कर दे।  

भारत ने कहा कि पाकिस्तान आतंकियों को समर्थन देना बंद करे और पीओके में अवैध कब्जों को छोड़े। भारतीय राजनयिक की ओर से यह भी नसीहत दी गई कि पाकिस्‍तान को चाहिये कि वह विकास पर काम करे। मालूम हो कि बीते दिनों FATF ने पाकिस्तान को Gray List में बनाए रखने का फैसला सुनाया था। एफएटीएफ ने चेतावनी दी थी कि यदि पाकिस्‍तान अपने कब्‍जे वाले इलाकों में जारी आतंकवाद को फंडिंग करने वालों को सजा नहीं देता तो उसके खिलाफ और कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस