काबुल/इस्‍लामाबाद, एजेंसी। अफगानिस्तान में चल रही जंग में पिछले 24 घंटे के दौरान सेना ने पकतिया प्रांत में तालिबान के डिप्टी चीफ अब्दुल हक उमरी को मार गिराया। अब्दुल हक दोहा में अफगान सरकार से वार्ता में भाग ले रहे तालिबान के एक नेता का बेटा है। इसके अलावा तालिबान का शीर्ष आतंकी मुल्ला शफीक भी लड़ाई में ढेर हो गया। इधर अफगान राष्ट्रपति ने कहा है कि अफगान समस्या का सैन्य समाधान नहीं हो सकता। हम तालिबान से सीधे वार्ता को तैयार हैं। अफगान सेना और तालिबान के बीच चल रहे युद्ध में सेना को दो सफलता मिलीं। पकतिया प्रांत में तालिबान का डिप्टी कमांडर अब्दुल हक उमरी मारा गया।

उमरी ग्वांतानामो जेल में बंद था, जिसे 2015 में छोड़ा गया था

दोहा में चल रही वार्ता में भाग ले रहे तालिबान के सबसे कम उम्र नेता अनस हक्कानी ने ट्वीट कर पुष्टि की है कि अब्दुल हक वार्ता में शामिल मोहम्मद नबी उमरी का पुत्र है, जिसकी अफगान सेना के हाथों मौत हो गई है। मोहम्मद नबी उमरी ग्वांतानामो जेल में बंद था, जिसे 2015 में छोड़ा गया था। उसके साथ छोड़े गए चार अन्य कैदी भी इस समय अफगान सरकार से दोहा में चल रही वार्ता में शामिल हैं। एएनआइ के अनुसार जौजान प्रांत में चल रहे युद्ध के दौरान तालिबान के शीर्ष आतंकी मुल्ला शफीक को भी मार दिया गया है।

इमरान ने कहा, अफगान समस्‍या अमेरिका की देन

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिका की आलोचना करते हुए कहा है कि उसी के कारण ही अफगान समस्या पूरी तरह उलझ गई है। इस समस्या का हल सभी पक्षों के राजनीतिक समाधान से ही हो सकेगा। इधर पाक के आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में तालिबान की जीत को पूरे विश्व के मुस्लिमों की जीत बताया है।

तालिबान से शांति और युद्ध विराम के मसले पर सीधे वार्ता को तैयार

यहां प्रांतीय गवर्नर के प्रवक्ता मोहम्मद रेजा गफूरी ने पुष्टि की। उन्होंने बताया कि शबरगान-मजार हाईवे पर सिक्योरिटी चेकपोस्ट पर संघर्ष में मुल्ला शफीक मारा गया है। तालिबान ने उसके मारे जाने पर कोई टिप्पणी नहीं की है। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा है कि सैन्य तरीके से अफगान समस्या का हल नहीं किया जा सकता है। हमारी सरकार तालिबान से शांति और युद्ध विराम के मसले पर सीधे वार्ता को तैयार है। हमने पांच हजार तालिबान को छोड़कर शांति का संदेश पहले ही दे दिया है।

रूसी रक्षा मंत्री बोले, सीरिया- लीबिया से पहुंच रहे आइएस आतंकी

रायटर के अनुसार रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई सोयगु ने कहा है कि इस्लामिक स्टेट (आइएस) के आतंकी सीरिया, लीबिया व अन्य देशों से अफगानिस्तान पहुंच रहे हैं। एएनआइ के अनुसार रूस के रक्षा मंत्री ने कहा कि अफगानिस्तान में अमेरिका का मिशन पूरी तरह फेल रहा। यहां के राष्ट्रपति अशरफ गनी के हाथ से भी स्थिति निकल चुकी है। सर्गेई ने यह बात दुशांबे में शंघाई कोआपरेशन आर्गनाइजेशन की बैठक में कही।

 

Edited By: Ramesh Mishra