इस्लामाबाद, एजेंसी। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को कहा कि तीन नवंबर को वजीराबाद में एक विरोध मार्च के दौरान उनपर कातिलाना हमला करने में तीन शूटर शामिल थे। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी अध्यक्ष को इस हमले में दाहिने पैर में गोली लगी थी। वह मध्यावधि चुनाव के लिए दबाव बनाने के वास्ते सरकार के खिलाफ मार्च का नेतृत्व कर रहे थे।

रावलपिंडी में अपनी पार्टी की एक विशाल रैली को संबोधित करते हुए, खान ने शनिवार को कहा कि दो हमलावरों में से एक ने उन पर और पीटीआई के अन्य नेताओं पर गोली चलाई थी और दूसरे शूटर ने कंटेनर पर गोलीबारी की थी, जबकि तीसरा व्यक्ति कथित हत्यारे को चुप कराने के लिए वहां था ताकि कोई ब्योरा नहीं दिया जा सके।

यह भी पढ़ें- इमरान खान का बड़ा ऐलान, कहा- पाकिस्तान की सभी विधानसभाओं से इस्तीफा देगी पीटीआई

‘डॉन’ अखबार की खबर के मुताबिक, 70 वर्षीय खान ने दावा किया कि इस तीसरे शूटर ने रैली में एक व्यक्ति की हत्या की थी जब वह संभावित हत्यारे को मारने की कोशिश कर रहा था।

हमले के एक दिन बाद लाहौर के शौकत खानम अस्पताल से राष्ट्र को संबोधित करते हुए खान ने कहा था कि दो निशानेबाजों ने उनके दाहिने पैर में चार गोलियां मारी थीं। उन्होंने कहा कि वह एक कंटेनर पर थे जब उन पर 'गोलियों की बौछार' का निर्देश दिया गया था।

उन्होंने आगे कहा 'फिर एक दूसरा धमाका हुआ और उसमें दो लोग थे।'

एक बार फिर पीएम शहबाज शरीफ पर लगाया हत्या की साजिश का आरोप

उन्होंने एक बार फिर प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ, आंतरिक मंत्री राणा सनाउल्लाह और मेजर जनरल फैसल नसीर पर उनकी हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया।

बता दें कि अपने नेतृत्व में अविश्वास मत हारने के बाद खान को अप्रैल में सत्ता से बेदखल कर दिया गया था, जो उन्होंने आरोप लगाया था कि रूस, चीन और अफगानिस्तान पर उनकी स्वतंत्र विदेश नीति के फैसलों के कारण उन्हें निशाना बनाने वाली अमेरिकी नेतृत्व वाली साजिश का हिस्सा था। अमेरिका ने आरोपों से इनकार किया है।

वह संसद में अविश्वास मत से बाहर होने वाले एकमात्र पाकिस्तानी प्रधानमंत्री हैं। वर्तमान नेशनल असेंबली का कार्यकाल अगस्त 2023 में समाप्त होगा।

यह भी पढ़ें- Afghanistan: भूखे बच्चों को सुलाने के लिए अफगानी दे रहे ड्रग्स, तालिबान शासन में बेच रहे अंग और बेटियां

Edited By: Babli Kumari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट