इस्लामाबाद, आइएएनएस। भारत की मदद करने की पेशकश करके द‍िखावा करने वाले पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की उनकी आवाम के सामने ही पोल पट्टी खुल गई है। पहले से ही बदहाल पाकिस्‍तानी अर्थव्‍यवस्‍था अब कोरोना संकट के चलते और बदतर स्थिति में पहुंच गई है। प्रधानमंत्री इमरान खान ने कोरोना संकट से निपटने के लिए अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों के सामने एकबार फ‍िर कर्ज के लिए झोली फैलाई है। उन्‍होंने तीन अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों के साथ 150 करोड़ डॉलर के कर्ज के लिए समझौतों पर दस्‍तखत किए हैं।

पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने विश्व बैंक (World Bank), एशियाई विकास बैंक (Asian Development Bank, ADB) और एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट बैंक (Asian Infrastructure Development Bank, AIIB) के साथ समझौतों पर हस्ताक्षर किए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, एशियाई विकास बैंक पाकिस्‍तान के कोविड-19 एक्टिव रिस्पांस एंड एक्सपेंडिचर सपोर्ट प्रोग्राम (Covid-19 Active Response and Expenditure Support Programme) में 50 करोड़ डॉलर की मदद कर रहा है।

यही नहीं एशियाई इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट बैंक यानी एआईआईबी भी इसी कार्यक्रम के तहत 50 करोड़ डॉलर की मदद कर रहा है। इसी तरह 50 करोड़ डॉलर का एक और समझौता हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले कुछ दिनों में 150 करोड़ डॉलर का यह कर्ज पाकिस्तान को मिल जाएगा। बता दें कि पाकिस्‍तान में शनिवार को संक्रमण से 153 लोगों की मौत हो गई जबकि 6,604 नए मामले सामने आए। पाकिस्‍तान में कोरोना से अब तक 3,382 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 171,665 मामले सामने आए हैं।

उल्‍लेखनीय है कि बीते दिनों पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के लोगों को आर्थिक मदद देने की बड़बोली पेशकश की थी। इस ऑफर पर भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता अनुराग श्रीवास्तव ने ऐसा करारा जवाब दिया था जो इमरान खान को आजीवन याद रहेगा। श्रीवास्‍तव (Anurag Srivastava) ने कहा था कि इमरान खान को शायद इस बात का इल्‍म नहीं है कि पाकिस्‍तान विदेशी कर्ज में गले तक डूबा हुआ है। पाकिस्तान की जीडीपी के बराबर तो भारत ने कोरोना पैकेज दे रखा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021