इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान ने जाने-अनजाने पहली बार कुबूल कर लिया है कि भारत ने बालाकोट में भीषण हवाई हमला किया था। बौखलाए प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि पाकिस्तान के पास ठोस जानकारी है कि भारत बालाकोट पर हुए भयावह हवाई हमले से भी बड़े हमले की योजना बना रहा है। कश्मीर के ताजा हालात से दुनिया का ध्यान हटाने के लिए वह ऐसा करने वाला है। मेरा मोदी को यही संदेश है कि अगर वह कार्रवाई करेंगे तो हम भी मुनासिब जवाब देंगे।

गुलाम कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद में बुधवार को इमरान खान ने कथित विधानसभा के विशेष सत्र को संबोधित करते हुए कहा, 'भारत अब पुलवामा के बाद किए हवाई हमले से भी खतरनाक योजना बना रहा है। वह कश्मीर (गुलाम कश्मीर) में कुछ कार्रवाई कर सकता है। इस आधार पर हम राष्ट्रीय सुरक्षा कमेटी की दो बैठकें कर चुके हैं।' इमरान ने धमकाते हुए कहा, 'हम हर ईंट का जवाब पत्थर से देंगे। आप जो भी करेंगे हम उसका जवाब देंगे। अगर आप हमको सबक सिखाने की सोच रहे हैं तो ध्यान से सुनें, अब हम आपको सबक सिखाएंगे।'

इमरान ने कहा कि अगर अब पाकिस्तान और भारत के बीच युद्ध छिड़ा तो इसके लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय जिम्मेदार होगा। खान ने दावा किया कि विश्व की मुस्लिम आबादी समेत पूरी दुनिया इस समय संयुक्त राष्ट्र की ओर देख रही है। संयुक्त राष्ट्र महासभा के सितंबर में होने वाले वार्षिक सत्र का हवाला देते हुए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने यह प्रपंच रचा है। भारत के आंतरिक मामले को लेकर पाकिस्तान ने सुरक्षा परिषद की आपात बैठक भी बुलाने की मांग की है।

गौरतलब है कि इमरान खान ने पहली बार भारत से युद्ध छिड़ने की बात की है। पिछले हफ्ते भी पाकिस्तानी संसद के संयुक्त सत्र को संबोधित करते हुए इमरान खान ने धमकी दी थी कि जम्मू और कश्मीर में पुलवामा जैसे और हमले हो सकते हैं। तब भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कहा था कि पाकिस्तान बिना बात के अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने बिगड़े हुए हालात दिखाने की कोशिश कर रहा है। जबकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ऐसा नहीं सोचता।

अनुच्छेद 370 हटाकर मोदी ने की गलती

उन्होंने कहा कि भाजपा और संघ की नफरत भरी विचारधारा से सिर्फ कश्मीर तक सीमित नहीं रहेगी, बल्कि पूरे पाकिस्तान में फैलेगी। उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाकर मोदी सरकार ने राजनीतिक गलती की है। इसके लिए भारत को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। पाकिस्तान ने अपना आजादी दिवस मनाते हुए 'कश्मीरियों से एकजुटता दिवस' मनाया। इस मौके पर इमरान ने कहा,'मैं मानता हूं मोदी ने सामरिक गलती कर दी है। यह मोदी और उनकी भाजपा सरकार को बहुत महंगा पड़ेगा।'

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान ने कहा, 'मैं कश्मीर के मुद्दे को आगे तक लेकर जाऊंगा। मैं कश्मीर की आवाज बनूंगा, कश्मीर का दूत बनूंगा।' उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में हो रहे मानवाधिकार उल्लंघन की ओर ध्यान खींचना मुश्किल था। लेकिन अब मोदी की एक गलती से कश्मीर का मुद्दा स्पॉटलाइट यानी वैश्विक मीडिया की नजरों में आ गया है। मोदी ने असल में इस विवाद का अंतरराष्ट्रीयकरण करने में मदद की है। क्रिकेटर से नेता बने इमरान ने भारतीय स्वतंत्रता दिवस को बतौर काला दिवस मनाने की तैयारी की है।

कश्मीर की हकीकत बदली नहीं जा सकती : बाजवा
पाकिस्तान के आजादी दिवस पर ट्विटर पर संदेश जारी कर सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने कहा है कि कश्मीर पर कोई समझौता नहीं हो सकता है। कश्मीर की हकीकत को ना तो 1947 के अवैध दस्तावेज से बदला जा सकता था और ना ही अभी या भविष्य में कोई कार्रवाई करके ही बदला जा सकता है। जनरल बाजवा ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तानी सेना जम्मू और कश्मीर के लिए जान लगा देगी। सेना कश्मीर के लिए अपने राष्ट्रीय दायित्व को निभाने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

Posted By: Sanjeev Tiwari