लाहौर, प्रेट्र: अक्सर अमेरिका के साथ भारत पर आरोप जड़ने वाले जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद ने अब यू टर्न लिया है। उसका कहना है कि पाक सरकार उसे जबरन नजरबंद कर रही है।
सईद 2008 के मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है। भारत सरकार उसे सजा दिलाने के लिए कई बार मांग कर चुकी है, लेकिन पाक सरकार ने उसे केवल नजरबंद किया। पिछले साल नवंबर में उसकी नजरबंदी से रोक हटी थी। नाजरिया ट्रस्ट में उसने कहा कि पाक सरकार उसे नजरबंद करके कश्मीरी लोगों के साथ अत्याचार कर रही है। वह उन लोगों की आवाज उठाता रहा है। लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक के सिर पर अमेरिका एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है। उसका कहना है कि पाक सरकार कश्मीरी लोगों के बलिदान को नजरंदाज कर रही है। उसने यह भी मांग की कि कश्मीर के मसले पर पाक प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी को अपनी कैबिनेट के पांच सदस्यों के साथ संयुक्त राष्ट्र पर धरना देना चाहिए। उसका कहना है कि पांच फरवरी को पाक सरकार यह कदम उठाए। सईद का कहना है कि कश्मीर के लोगों की आवाज को बुलंद करना बेहद जरूरी है, क्योंकि वहां पर भारत सरकार अत्याचार कर रही है।
गौरतलब है कि दस माह की नजरबंदी के बाद सईद को जब वहां की अदालत ने रिहा किया तो उसने इसके लिए अमेरिका के साथ भारत सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। सईद का कहना था कि उसे इन दोनों के दबाव के चलते घर में कैद किया गया था। सईद ने पाक मीडिया की भी आलोचना की। उसका कहना था कि मीडिया भारत की आवाज बोल रहा है।

 

Posted By: Sachin Bajpai