लाहौर [प्रेट्र]। पाकिस्तान में आम चुनाव से पहले फेसबुक ने इस्लामी मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) के कई अकाउंटों और पेजों को बंद कर दिया है। मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के नेतृत्व वाली जमात-उद-दावा के राजनीतिक संगठन के लिए इसे एक झटका माना जा रहा है।

खबरों के मुताबिक, हाल ही में फेसबुक के अधिकारियों ने पाकिस्तान चुनाव आयोग से संपर्क किया था। उन्होंने उनसे आम चुनाव से पहले विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के फर्जी पेजों की पहचान करने और हटाने में स्थानीय अधिकारियों की मदद करने का अनुरोध किया था। पाकिस्तान में 25 जुलाई को नेशनल असेंबली के लिए वोट डाले जाएंगे।

फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग ने कहा था कि पाकिस्तान, भारत, ब्राजील, मैक्सिको और अन्य देशों में होने वाले चुनावों में सकारात्मक बातचीत का समर्थन सुनिश्चित करना सोशल साइट की प्राथमिकता होगी।

चुनाव आयोग ने एमएमएल को राजनीतिक दल के रूप में मान्यता नहीं दी है। इस साल अप्रैल में अमेरिका ने 2008 में मुंबई हमले को अंजाम देने वाले लश्कर-ए-तैयबा के साथ संबंधों को लेकर एमएमएल को आतंकी संगठनों की सूची में डाल दिया था।

एमएमएल को मान्यता नहीं मिलने के बाद जमात सरगना सईद ने कहा था कि उसकी पार्टी के करीब 200 प्रत्याशी कम चर्चित अल्ला-ओ-अकबर तहरीक के बैनर तले चुनाव लड़ेंगे। इस पार्टी का पहले ही चुनाव आयोग में पंजीकरण हो चुका है। एमएमएल के प्रवक्ता तबिश कय्यूम ने मीडिया को बताया कि फेसबुक ने बिना कारण बताए उसके चुनाव प्रत्याशियों और कार्यकर्ताओं के कई अकाउंट बंद कर दिए हैं।

Posted By: Vikas Jangra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप