इस्लामाबाद, आइएएनएस। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पोलियो मामलों के उभार पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि यह मुल्क के लिए शर्म की बात है। उन्होंने माता-पिता से आग्रह किया कि वे पोलियो रोधी अभियान में ना सिर्फ अपने बच्चों की भलाई के लिए बल्कि मुल्क की इज्जत के लिए भी शामिल हों।

प्रधानमंत्री इमरान ने शुक्रवार को यहां राष्ट्रव्यापी पोलियो उन्मूलन अभियान की शुरुआत करते हुए कहा, 'पाकिस्तान दुनिया के उन दो देशों में एक है, जहां पोलियो अब भी मौजूद है। यह शर्म की बात है। मैं माताओं से आग्रह करता हूं कि वे हेल्थ वर्करों के पास जाएं और अपने बच्चों को पोलियो रोधी दवा की खुराक दिलाएं। यह आपके बच्चे और मुल्क के लिए अहम है।' विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और नाइजर में अभी तक पोलियो पर नियंत्रण नहीं पाया जा सका है।

पाकिस्तान में इस साल पोलिया के 98 मामले

पाकिस्तान में इस साल पोलियो के 98 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 72 मामले सिर्फ खैबर पख्तूनख्वा से हैं। 2018 में पोलियो के 12 मामलों का पता चला था। जबकि 2017 में महज आठ मामले पाए गए थे।

पाकिस्तान में सालों से बढ़ रहे पोलियो के मामले

पाकिस्तान में बच्चों को पोलियो ड्रॉप ना पिलाए जाने के मामले में कहीं मुस्लिम परिवारों का धर्म आड़े आ जाता है तो कहीं पर अफवाह के चलते वह अपने बच्चों को पोलियो ड्रॉप नहीं पिलाए जाते हैं, जिसका असर धीरे-धीरे दिखता रहता है। पाकिस्तान में पोलियो के बढ़ते मामलो के पीछे ये बड़ी वजह है। साल दर साल पाकिस्तान में पोलियो को जड़ से मिटाना एक चुनौती बनता जा रहा है।

साल 2018 के मुकाबले इस साल पाकिस्तान में पोलियो के ज्यादा मामले सामने आए हैं। 2018 में पाकिस्तान में पोलियो के सिर्फ 12 मामले सामने आए थे। लेकिन इस साल जबकि ये साल खत्म होने में कुछ दिन ही बाकी है, पाकिस्तान में पोलियो के मामले ज्यादा तेजी से बढ़ रहे हैं।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस