इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने इमरान खान को उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) में निर्धारित समय के भीतर आंतरिक चुनाव नहीं कराने को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किया है। डान अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के आयोग ने चुनाव अधिनियम, 2017 की धारा 215 (4) के तहत पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के अध्यक्ष इमरान खान को नोटिस जारी किया है। उन्हें 14 दिनों के अंदर इसका जवाब देने हो गया है और ऐसा नहीं करने की स्थिति में चुनाव आयोग की ओर से और कड़े कदम उठाए जाने की चेतावनी भी दी गई है।

ध्यान रहे इमरान खान ने हाल ही में चीन की एक दलीय कम्युनिस्ट शासन प्रणाली को अनूठा माडल करार दिया था। साथ ही कहा था कि चीनी माडल ने उस अवधारणा को खत्म कर दिया जिसमें कहा जाता है कि समाज में सुधार के लिए पश्चिमी लोकतांत्रिक व्यवस्था को अपनाना ही बेहतरीन है। चीनी सिस्टम को लेकर यह बयान देने वाले इमरान खान को अब अपनी ही पार्टी में लोकतंत्र नहीं होने को लेकर नोटिस मिला है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इस पार्टी के अध्यक्ष भी हैं और इसी वजह से उन्हें नोटिस जारी किए गए हैं। उन्हें एक पखवाड़े के अंदर बताना होगा कि पार्टी में जो आंतरिक चुनाव 13 जून को होने थे, उसे अब तक क्यों नहीं कराया गया।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में सत्तारूढ़ इमरान खान की पार्टी के अतिरिक्त चुनाव आयोग ने दो अन्य पाíटयों को भी आंतरिक चुनाव नहीं कराने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इनमें प्रतिबंधित तहरीक-ए-लब्बैकपाकिस्तान और बलूचिस्तान अवामी पार्टी शामिल है।यहां उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान चुनाव अधिनियम के तहत सभी राजनीतिक पाíटयों को समय-समय पर अनिवार्य रूप से पार्टी में आंतरिक चुनाव कराना आवश्यक है। लेकिन चुनाव आयोग के नोटिस के अनुसार, इमरान खान 13 जून को पाकिस्तान चुनाव आयोग को पार्टी के अंदरूनी चुनावों का ब्योरा देने में नाकाम रहे।

Edited By: Shashank Pandey