इस्लामाबाद, आइएएनएस। अमेरिकी ब्लॉगर सिंथिया डान रिची ने पाकिस्तान के पूर्व गृह मंत्री रहमान मलिक पर दुष्कर्म का आरोप लगाकर तूफान खड़ा कर दिया है। उसने दावा किया है कि रहमान मलिक ने उसके साथ दुष्कर्म किया, जबकि पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के दूसरे उच्च पदस्थ लोगों ने उस पर बदनीयती से हमला किया। सिंथिया की इस टिप्पणी से पाकिस्तान के राजनीतिक गलियारों में तूफान खड़ा हो सकता है। साहसी कारनामे करने वाले सिंथिया के आरोप चौंकाने हैं। इससे पाकिस्तान में घबराहट फैलना तय है। उसने फेसबुक लाइव से पीपीपी के शीर्ष स्तर के नेताओं पर जो आरोप लगाए हैं वे काफी संगीन और गंभीर हैं।

रहमान मलिक ने राष्‍ट्रपति भवन में किया दुष्‍कर्म 

फेसबुक लाइव पर सिंथिया ने दावा किया है कि 2011 में गृह मंत्री रहमान मलिक ने उसके साथ उस समय दुष्कर्म किया जब वह राष्ट्रपति भवन में ठहरी हुई थीं। उस समय पूर्व स्वास्थ्य मंत्री मखदूम शहाबुद्दीन और प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने भी बदनीयती से उसे शारीरिक चोट पहुंचाई थीं।

सिंथिया ने कहा कि मुझे लगा था कि वीजा को लेकर बैठक है। वहां मुझे फूल दिए गए और पेय पदार्थ ड्रिंक दिए गए। उन्होंने कहा कि मैं उस समय इसलिए चुप रही क्योंकि वहां उन्हीं की सरकार थी और ऐसे में मेरी कौन मदद करता? 

उसने दावा किया है कि इन आरोपों को साबित करने के लिए उसके पास पर्याप्त सुबूत हैं। फेसबुक पर लाइव होने से पहले उसने ट्वीट भी किया था। उसने कहा था कि आसिफ अली जरदारी नहीं चाहते कि दुनिया यह सच जाने, लेकिन उसने फेसबुक पर लाइव होने का फैसला लिया है। उन्‍होंने मुझे धमकी दी हैं क्‍योंकि वे जानते हैं कि पीपीपी के ऊंचे पदों पर बैठे लोगों ने मेरे साथ रेप किया और मुझे चोट पहुंचाई। सिंथिया ने कहा कि बाद में इसकी शिकायत उन्होंने अमेरिकी दूतावास में की, लेकिन वैसी प्रतिक्रिया नहीं मिली, जैसी मिलनी चाहिए थी।

पूर्व पीएम के बेटे का पलटवार 

सिंथिया के इन आरोपों पर पूर्व पीएम के बेटे अली हैदर गिलानी ने पलटवार किया है। उन्होंने सिंथिया के आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि रिची को इस तरह की बातें करने के लिए खुद पर शर्म आनी चाहिए। मुझे इस बात की चिंता नहीं है कि क्या कहा गया है। मैं बेनजीर भुट्टो  पर लगाए गए बेबुनियाद आरोपों के लिए ज्यादा चिंतित हूं। बता दें कि पिछले महीने सिंथिया ने बेनजीर भुट्टो के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट किया था, जिसके बाद पीपीपी नेताओं ने उनके खिलाफ मामला दर्ज कराया था।  

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस