नामपेन्‍ह , एपी। कंबोडिया  (Cambodia) में क्रूज शिप (Cruise Ship) को प्रवेश की अनुमति मिलने के बाद यहां कोरोनावायरस की संभावना प्रबल हो गई क्‍योंकि इसमें सवार यात्रियों में से एक अमेरिकी महिला को पॉजीटीव पाया गया। दरअसल, कोरोनावायरस के संक्रमण को फैलने के डर से एशिया के अन्‍य देशों ने क्रूज शिप को अपने बंदरगाह पर प्रवेश की अनुमति नहीं दी लेकिन कंबोडिया ने क्रूज शिप का स्‍वागत अपने बंदरगाह पर किया।

क्रूज पर मौजूद यात्रियों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के डर से ताइवान, जापान, गुआम, थाईलैंड और फिलीपींस ने अपने बंदरगाह पर इसे अनुमति नहीं दी थी। इस कारण यह करीब दो सप्‍ताह तक समंदर में ही फंसा रहा। 

कोरोनावायरस के लिए पॉजीटीव पाई गई 83 वर्षीय अमेरिकी महिला जो कंबोडिया से मलेशिया चली गई। क्रूज में सवार कुछ यात्री कंबोडिया की राजधानी नामपेन्‍ह के होटल में मौजूद हैं जबकि कुछ अभी जहाज पर ही हैं। शुक्रवार और शनिवार को कंबोडिया से बाहर जाने वाले सैंकड़ों यात्रियों में अमेरिकी महिला भी थी। मलेशिया में अधिकारियों ने बताया कि, 84 वर्षीय अपने पति के साथ महिला इलाज के लिए वहीं रुक गई है, क्‍योंकि वह न्‍यूमोनिया से पीड़ित पाई गई है। जहाज में सवार यात्रियों का अपने देशों में वापसी से कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा और बढ़ गया है।

कंबोडिया के प्रधानमंत्री सामदेक टी हुनसेन ने जानलेवा बीमारी कोरोना वायरस के संक्रमण को नियंत्रित करने के चीन के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा है कि जल्‍द ही इस बीमारी पर नियंत्रण पा लिया जाएगा। प्रधानमंत्री हुनसेन ने यहां राष्ट्रीय शिक्षा संस्थान के दीक्षांत समारोह में लगभग दो हजार छात्रों को डिग्रियां वितरित करने के मौके पर कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण पर काबू पाने के लिए चीन ने जो काम किया है वह तारीफ के काबिल है और वहां कंबोडियाई छात्रों की मदद के लिए हम चीन को धन्यवाद देना चाहते है। 

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस