संयुक्त राष्ट्र, आइएएनएस। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ( Secretary-General Antonio Guterres) ने सुरक्षा परिषद को कोविड-।9 के कारण प्रभावित होने वाली अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा और शांति को लेकर चेतावनी दी। उन्होंने गुरुवार को सुरक्षा परिषद से कहा, 'कोविड-19 महामारी पूरी दुनिया की सुरक्षा और शांति पर कई तरह से प्रभाव डाल रही है और इससे कई तरह के खतरे हो सकते हैं।' उन्होंने बताया कि इस महामारी के दुष्परिणाम अनेकों देशों पर होंगे यहां तक कि अब तक शांत और स्थिर रहने वाले देश भी इससे नहीं बच पाएंगे। महामारी के इस संकट से सामाजिक और आर्थिक व्यवस्था चरमरा गई है और इसके कारण तनाव बढ़ रहे हैं। महामारी को काबू करने में असफल रहे प्रशासन के कारण कई जगहों पर सार्वजनिक संस्थानों पर से विश्वास उठ गया है।

महासचिव ने चेतावनी भरे लहजे में बताया कि पहले से मुश्किलों का सामना करने वाले देशों में अस्थिरता और हिंसात्मक घटनाएं बढ़ गई हैं। उन्होंने कहा, कहा महामारी के कारण लिंग असमानता भी बढ़ता दिख रहा है। घरेलू हिंसा के कई मामले सामने आ रहे हैं। कई जगहों पर महामारी के कारण उत्पन्न हालात का फायदा आतंकी और हिंसक चरमपंथी गुट उठा रहे हैं। ऐसे में देशों को यह सोचना होगा कि उन्हें इससे कैसे उबरना है और मौजूदा स्वास्थ्य संकट को खत्म करना है। उन्होंने कहा कि महामारी ने दुनिया में डिप्लोमैसी को अधिक चुनौतीपूर्ण बना दिया है।

उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि सौ करोड़ से अधिक बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे वहीं 13 हजार करोड़ से अधिक लोगों के लिए इस साल के अंत तक भूखों मरने की नौबत आ जाएगी। इस महामारी के कारण टीकाकरण की प्रक्रिया भी प्रभावित है जिससे दूसरी बीमारियों जैसे चेचक और पोलियो के शुरू होने का खतरा मंडरा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि महामारी से दुनिया भर में उपजे संकटों का सामना करने के लिए एकजुट होना होगा। सुरक्षा परिषद की ओर से अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा और शांति को लेकर उच्चस्तरीय चर्चा का आयोजन किया गया था।

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस