सिंगापुर, प्रेट्र। दो भारतीय नागरिकों पर गुरुवार को सिंगापुर (Singapore) की दो कंपनियों के साथ धोखाधड़ी का आरोप लगा है। सिंगापुर में स्थायी निवासी का का दर्जा हासिल कर चुके भारत मूल के 46 वर्षीय हुसैन नैना मोहम्मद (Hussain Naina Mohamed) और 66 वर्षीय एल्दो थोत्तुंगल मथाइ (Eldo Thottungal Mathai) पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। 

46 वर्षीय हुसैन नैना मोहम्मद (Hussain Naina Mohamed) ने सिंगापुर की दो कंपनियों को 4 सिंगापुर डॉलर (SGD) का भुगतान किया जिसमें से एक में वह पार्टनर है। इसकी जानकारी स्ट्रेट टाइम्स ने दी। एल्दो (Eldo) का मामले में अगली सुनवाई 19 अगस्त को होगी वहीं हुसैन को 16 सितंबर को सजा सुनाई जाएगी।

धोखाधड़ी के मामले में दोष साबित होने पर प्रत्येक मामले में इन्हें 10 साल की सजा हो सकती है और जुर्माना भी लगाया जा सकता है। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दोषी पाए जाने पर हुसैन को सात साल तक की कैद की सजा हो सकती है और 500,000 सिंगापुर डॉलर का जुर्माना लगाया जा सकता है।

कथित तौर पर हुसैन पर दो कंपनियों के साथ 4 मिलियन डॉलर से अधिक का भुगतान करने को लेकर ठगी का आरोप है जो उसने दो फर्मों के लिए कराया था और इसमें से एक का वह पार्टनर भी था। इसके अलावा उसने पांचवीं कंपनी के निदेशक के साथ मिलकर पीड़ित कंपनियों के खिलाफ साजिश भी रची। हुसैन और निदेशक एल्दो पर गुरुवार को धोखाधड़ी के 6 मामले दर्ज किए गए। दोनों ही भारत मूल के हैं और सिंगापुर में स्थायी निवासी का दर्जा हासिल कर चुके हैं। हुसैन पर 20 आरोप और हैं जिसमें से

18 धोखाधड़ी व दो मनी लॉन्ड्रिंग का है। वह 24 जून, 2009 से 2 जनवरी 2019 तक इंजीनियरिंग फर्म अट्राकॉन स्ट्रक्चरल सिस्टम्स ( Utracon Structural Systems) का असिस्टेंट शिपिंग मैनेजर रहा। अट्राकॉन

से जुड़ने के वक्त हुसैन ने यह बात छिपा ली थी कि वह अल रहमान एंटरप्राइजेज एंड ट्रेडिंग का रजिस्टर्ड पार्टनर है।