कोलंबो, एएफपी। श्रीलंका में गत रविवार को तीन में से दो होटलों में हुए आत्मघाती विस्फोटों को दो मुस्लिम भाइयों ने अंजाम दिया था। ये दोनों कोलंबो के एक बड़े मसाला व्यापारी के बेटे हैं। जांच अधिकारी ने बताया कि एक भाई ने सांगरी ला और दूसरे भाई ने सिनामन ग्रैंड होटल में शनिवार को चेक-इन किया था। रविवार सुबह इन दोनों ने उस समय खुद को उड़ा लिया जब लोग नाश्ते की कतार में खड़े थे। चौथे होटल में भी विस्फोट की योजना थी, लेकिन यह असफल रही।

जांच अधिकारी के मुताबिक 20 से 30 साल के बीच के इन दोनों भाइयों का नाम अभी तक सार्वजनिक नहीं किया गया है। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि इनका अन्य होटल और चर्च पर किए गए हमलों के दूसरे आरोपियों से क्या संबंध है।

अधिकारी ने बताया कि ये दोनों भाई इस्लामिक नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के सदस्य थे। बता दें कि श्रीलंका सरकार ने इन धमाकों के लिए इसी संगठन को जिम्मेदार ठहराया है।

अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एक चौथे होटल में भी हमला करने की योजना थी। हमले से एक दिन पहले एक हमलावर ने उस होटल में चेक-इन किया था, लेकिन विस्फोट नहीं हुआ। अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि वह विस्फोट करने में विफल रहा है या फिर किसी और कारण से उसने विस्फोट करने का फैसला टाल दिया।

वहीं सांगरी ला में हुए विस्फोट के बाद होटल के एक अज्ञात कर्मचारी पर संदेह जताया गया था। इसे जब पुलिस ने पकड़ने की कोशिश की तो उसने खुद को उड़ा लिया। इसमें पास में खड़े दो लोगों की मौत हो गई थी।

पुलिस घर पहुंची तो आत्मघाती हमलावर की पत्नी ने खुद को उड़ाया
बताया जाता है कि एक भाई ने होटल में चेक-इन के लिए फर्जी पते का इस्तेमाल किया था, वहीं दूसरे ने असली पता दिया था। इसके माध्यम से पुलिस जब उनके मकान में तलाशी लेने पहुंची तो आत्मघाती हमलावरों में से एक की पत्नी ने दो बच्चों सहित खुद को उड़ा लिया।

इसमें तीन पुलिस कमांडो की भी मौत हो गई। सूत्रों ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि आत्मघाती हमलावरों ने बहुत भारी-भारी बैग पीठ पर लाद रखे थे। जो सामान इन लोगों ने बैग में भर रखे थे वह स्थानीय स्तर पर तैयार किए गए क्रूड डिवाइस जैसे लग रहे थे। हमले के बाद इनके माता-पिता कहां है इसका पता नहीं चल सका है। हालांकि पुलिस ने मसाला फैक्ट्री में काम करने वाले नौ लोगों को गिरफ्तार किया है।

Posted By: Prateek Kumar